अगरतला ।  उत्तरी त्रिपुरा जिले के मुसलमानों ने म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों पर हो रहे अत्याचारों के विरोध में शांतिकामी फोरम (शांति प्रेमियों की फोरम) के तत्वावधान में धर्मनगर में एक मौन रैली निकाली। रोहिंग्या मुसलमानों पर हो रहे अत्याचारों को रोकने की मांग को लेकर रैली शहर की ज्यादातर सड़कों से गुजरी। 

रैली में सैंकड़ों प्रदर्शनकारी काले बिल्ले पहने हुए थे। प्रदर्शनकारियों ने फिलहाल रोहिंग्या को शरण देने और बाद में परिस्थिति नियंत्रण में आने पर उनको उनके निवास स्थान वापस भेजे देने की मांग की। 

रोहिंग्या शरणार्थियों में ज्यादातर मुसलमान सजातीय समूह हैं, जो म्यांमार में अत्याचारों, सांप्रदायिक हिंसा और वहां जारी सेना और विद्रोहियों के बीच संघर्ष से बचने के लिए अपने घरों को छोड़कर भाग रहे हैं। रोहिंग्या को पिछले कुछ दिनों से म्यांमार में बेहद तनावपूर्ण हालात से गुजरना पड़ रहा है।