सोल। उत्तर कोरिया ने सुनन इलाके से जापान सागर की ओर कोई अज्ञात प्रक्षेपण किया है, संभव है कि यह कोई अंतरमहाद्वीपीय बैलास्टिक मिसाइल हो। दक्षिण कोरिया ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ (जेसीएस)ने बुधवार को यह जानकारी दी। योनहाप समाचार एजेंसी ने जेसीएस के हवाले से कहा 'हमारी सेना इस पर नजर रखे हुए है और साथ ही इससे जुड़ी दूसरी गतिविधियों को भी जांचा जा रहा है इतना ही नही जवाबी कार्रवाई की तैयारी भी की जा रही है।'

ये भी पढ़ेंः अरुणाचल में स्थित है भगवान परशुराम का कुंड, रिजिजू ने शेयर किया अद्भुत वीडियो

क्योदो समाचार एजेंसी की रिपोर्ट में जापान के रक्षा मंत्री के हवाले से बताया गया कि यह प्रक्षेपण 800किलोमीटर की ऊंचाई तक गया और इसके बाद 500 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए जापान सागर में जापान के विशेष आर्थिक क्षेत्र (ईईजेड) के बाहर कहीं गिरा। इससे कोई नुकसान नहीं हुआ है लेकिन रूस ने बीजिंग में राजनयिक चेनेल्स के माध्यम से उत्तर कोरिया को इस प्रक्षेपण को लेकर अपने विरोध से अवगत करा दिया है। प्रसारक एनएचके के अनुसार इस घटना के बाद जापान सरकार ने प्रमुख मंत्रियों की एक आपातकालील बैठक बुलायी है। 

ये भी पढ़ेंः पायलट प्रोजेक्ट के रूप में अरुणाचल प्रदेश भारत-चीन सीमा पर तीन मॉडल गांव विकसित करेगा


जापान के प्रधानमंत्री फ्यूमियो किशिदा वेटिकन सिटी की यात्रा पर हैं लेकिन इस घटना के संदर्भ में उन्होंने अपनी सरकार से कहा है कि वह इस बारे में लोगों को भी जानकारी देती रहे साथ ही जलयानों और वायुयानों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाएं। वर्ष 2022 में उत्तर कोरिया ने यह 14वें हथियार का प्रक्षेपण किया है। उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने दस साल से अधिक के अपने कार्यकाल में अभी तक 100 से अधिक मिसाइलों का परीक्षण करने की अनुमति दी है जिसमें अंतरराष्ट्रीय प्रक्षेपण और चार परमाणु परीक्षण भी शामिल हैं।