चंडीगढ़ के सेक्टर 34 के एग्जीबिशन ग्राउंड में नार्थ ईस्ट क्राफ्ट बाजार 2017 की शुरुआत हुई है। 9 अक्टूबर तक चलने वाली इस एग्जीबिशन में आपको नॉर्थ ईस्ट में बनाए गई हैंडीक्राफ्ट की कई चीजें आसानी से मिल सकती हैं।


यहां आसाम की मूंगा सिल्क साड़ी, बैंबू के जूलरी प्लांटर, त्रिपुरा से बैंबू से बना मोर और लेडी लैंप, मणिपुर से स्टोन का बना किचन का सामान आपको मिल सकता है। इसके अलावा अरुणांचल प्रदेश, मेघालय, सिक्किम के बुनकर कारीगरों द्वारा बनाई गए सूट, साड़ी, दुपट्टा, घर की सजावट का सामान, प्री विंटर ड्रेस, बैगए झूले भी यहां होंगे।


बैंबू जूलरी के अलावा एक स्टॉल ऐसा भी है जहां पर आर्टिफिशयल जूलरी भी मिल रही है। वहीं जूलरी में सिल्क थ्रेड से बने ईयरिंग्स भी खास रहे, जिनमें डिफरेंट पैटर्न हैं। बैंबू केन से बने लैंप के भी यहां पर ढेरों विकल्प हैं। यह लैंप इनडोर से लेकर आउटडोर के लिए है।


इस क्राफ्ट बाजार के बारे में आर्गेनाइजर एमसी जोशी बताते है कि इसमें 60 स्टॉल लगे हुए हैं। बाजार लगाने का मकसद हैंडलूम और हैंडीक्राफ्ट को बढ़ावा देना है, साथ ही इनसे जुड़े बुनकरों और कारीगरों को प्लेटफॉर्म देना है।