यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर नामांकन प्रक्रिया बुधवार से शुरू हो गई है। वाराणसी में नामांकन प्रक्रिया के दौरान ब्लॉक पर पुख्ता इतंजाम दिखे। कोविड गाइडलाइन्स का पालन हो रहा था और महिला प्रत्याशी इस बार दिलचस्पी के साथ नामांकन स्थल पर नजर आईं।

खास बात ये रही कि चिरईगांव ब्लॉक पर मुर्दा भी नामांकन करने पहुंचा। सरकारी दस्तावेजों में मृत संतोष कुमार चिरईगांव ब्लॉक पर नामांकन करने पहुंचा। नामांकन स्थल पर लोगों की सुविधा और उनकी समस्याओं के निदान के लिए पूछताछ केंद्र बनाया गया है। जहां से प्रत्याशी नामांकन संबंधी किसी भी समस्या का निदान कर रहे हैं।

चिरईगांव ब्लॉक के मुख्य द्वार पर सुरक्षा के कड़े इंतेजाम हैं। नामांकन स्थल के भीतर सिर्फ प्रत्याशी के साथ उसका प्रस्तावक ही प्रवेश कर सकता है। वाहन नामांकन स्थल से 200 मीटर दूर हैं। किसी को भी बिना मास्क के प्रवेश की अनुमति नहीं है। 12 काउंटर बीडीसी पद के प्रत्याशियों के लिए और 12 काउंटर प्रधान और पंचायत सदस्यों के लिए बने हैं। कड़ी सुरक्षा के बीच नामांकन कराए जा रहे हैं।

19 अप्रैल को दूसरे चरण में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए कन्नौज जिले में नामांकन प्रक्रिया कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच जारी है। 28 जिला पंचायत सदस्य, 499 प्रधान पद, 6328 ग्राम पंचायत सदस्य, 676 क्षेत्र पंचायत सदस्य 7 और 8 अप्रैल को नामांकन दाखिल करेंगे। 9 और 10 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच होगी। 11 अप्रैल को 3 बजे तक पर्चे वापस लिए जाएंगे। 11 अप्रैल को 3 बजे के बाद प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह बांटे जाएंगे।

उप जिलाधिकारी देवेंद्र गुप्ता ने बताया कि नामांकन के दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। नामांकन करने वाले दावेदारों को कोविड नियमों को पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। नामांकन केंद्र से 200 मीटर की दूरी पर किसी प्रकार के वाहनों को खड़ा करने की अनुमति है। 5 लोग ही नामांकन के लिए केंद्र में जा सकेंगे।