लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधान सभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly elections) में पहले चरण के मतदान (First Phase elections) के लिए नामांकन की प्रक्रिया जल्द ही समाप्त होने वाली है। इस वजह से उम्मीदवारों के पर्चे दाखिल होने की प्रक्रिया ने जोर पकड़ लिया है। उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (CEO) कार्यालय की ओर से बुधवार को दी गई जानकारी के मुताबिक नामांकन के पांचवें दिन 107 उम्मीदवारों ने पर्चा दाखिल किया। 

बता दें कि चुनाव के पहले चरण में 11 जिलों की 58 विधान सभा सीटों पर 10 फरवरी को होने वाले मतदान के लिए 14 जनवरी को चुनाव की अधिसूचना जारी होने के साथ ही नामांकन शुरु हुआ था। नामांकन की अंतिम तिथि 21 जनवरी है। मंगलवार को यहां कुल 77 नामांकन की तुलना में बुधवार को 107 नामांकन पत्र दाखिल किए गए। इसके साथ ही अब तक किए गए नामांकन की संख्या 184 हो गयी है। 

9.19 करोड़ रुपए से ज्यादा मुल्य के शराब जब्त

इसके अलावा अब तक 9.19 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की 4.62 लाख लीटर अवैध शराब एवं 14.31 करोड़ रुपये मूल्य का 5001 किग्रा अवैध गांजा जब्त किया गया। आयोग के निगरानी दलों ने उम्मीदवारों की ओर से मतदाताओं को लुभाने के लिये वितरित की जाने वाली 7.20 करोड़ रुपये से अधिक की नकदी भी छापेमारी में बरामद की जा चुकी है। 

शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराने के लिये अब तक प्रदेश में 6,16,330 लाइसेन्सी शस्त्र जमा कराये गये। साथ ही 250 लाइसेन्स जब्त करने के अलावा 690 लाइसेन्स निरस्त भी किये गये हैं। आयोग ने चुनाव के दौरान अशांति फैलाने की आशंका में अब तक चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन होने पर अब तक 167 लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की गयी है। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में विधान सभा के चुनाव सात चरण में संपन्न कराये जाने हैं।