नोएडा के फरार गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी के अवैध निर्माण पर कार्रवाई शुरु हो गई है। नोएडा अथॉरिटी की टीम ने लेबर और बुलडोजर के साथ ओमैक्स सोसायटी में त्यागी के अवैध कब्जे पर एक्शन शुरु कर दिया है। बताया जा रहा है कि श्रीकांत त्यागी ने सोसायटी में सालों से अवैध कब्जा कर रखा है। इसको लेकर कई बार शिकायत भी की गई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। वहीं महिला से गालीगलौज के मामले में पुलिस ने श्रीकांत पर गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। जानकारी के अनुसार श्रीकांत त्यागी की लोकेशन पुलिस को उत्तराखंड में मिली है। अब पुलिस सीसीटीवी खंगालने के साथ ऋषिकेश-हरिद्वार में तलाशी अभियान तेज कर दिया है।

ये भी पढ़ेंः पेट्रोलियम कंपनियों को लग चुका है 18,480 करोड़ रुपए का झटका, जानिए फिर आज कितनी है पेट्रोल और डीजल की कीमत


श्रीकांत त्यागी पर नोएडा में एक महिला से दुर्व्यवहार और मारपीट करने का आरोप है। त्यागी ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के किसान मोर्चा का सदस्य होने का दावा किया है। यह घटना हाल में नोएडा के सेक्टर-93 बी में स्थित ग्रैंड ओमैक्स सोसाइटी में हुई। त्यागी यहां पौधरोपण करना चाहते थे, लेकिन महिला ने नियमों के उल्लंघन का हवाला देते हुए इसका विरोध किया। हालांकि, नेता ने दावा किया कि ऐसा करना उनका अधिकार है। इस घटना में कथित तौर पर त्यागी महिला के खिलाफ अपशब्द का इस्तेमाल करते दिखे।

ये भी पढ़ेंः Azadi Ka Amrit Mahotsav: हर घर तिरंगा अभियान, 15 अगस्त तक रोजाना खुले रहेंगे पोस्ट ऑफिस


वहीं सेक्टर-93बी स्थित ग्रैंड ओमेक्स सोसाइटी में रविवार रात कथित भाजपा नेता श्रीकांत त्यागी के करीब 12 गुर्गे घुस गए और अभद्रता और छेड़छाड़ का मामला दर्ज कराने वाली महिला के फ्लैट में जाकर धमकी देने लगे। शोर सुनकर सोसाइटी के लोग जुटे तो गुर्गों ने उनसे बदसलूकी करते हुए मारपीट कर दी।घटना की सूचना मिलते ही सोसाइटी के सैकड़ों लोग जमा हो गए सोसाइटी में 1 घंटे तक हंगामा होता रहा। अफरा-तफरी के बीच 5 आरोपी फरार हो गए, जबकि 7 बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में पुलिस कमिश्नर ने लापरवाही के मामले में देर रात एसएचओ फेस टू सुजीत उपाध्याय को निलंबित कर दिया है। रविवार देर रात हुए इस बवाल में मौके पर गौतमबुद्ध नगर के सांसद डॉ. महेश शर्मा, पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह, गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एलवाई, नोएडा के विधायक पंकज सिंह समेत कई अधिकारी पहुंच गए। लोगों को समझाया-बुझाया गया और बताया गया कि श्रीकांत त्यागी पर जल्द कड़ी कार्रवाई होगी।