श्रीलंका के पूर्व ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन (Former Sri Lanka off-spinner Muttiah Muralitharan) ने कहा है कि आईसीसी टी20 विश्व कप (ICC T20 World Cup) की ट्रॉफी जीतने के लिए कोई भी टीम स्पष्ट रूप से दावेदार नहीं है।

टी20 विश्व कप का आयोजन 17 अक्टूबर से मस्कट में शुरू होगा जबकि इसका फाइनल मुकाबला 14 नवंबर को (ICC T20 World Cup) दुबई में खेला जाएगा।

मुरलीधरन (Muralitharan) ने आईसीसी के लिए लिखे कॉलम में कहा, 'टी20 विश्व कप 2021 के बारे में सबसे रोमांचक बात यह है कि कोई टीम स्पष्ट रूप से दावेदार नहीं है। संयुक्त अरब अमीरात और ओमान में प्रतियोगिता में आने पर, ऐसा लगता है कि कोई स्टैंडआउट पक्ष नहीं है और परिणामस्वरूप, बड़ी संख्या में शामिल हुई टीमों में से कोई भी टीम ट्रॉफी उठा सकती है।'

मुरलीधरन का मानना है कि पावरप्ले के ओवर टीमों के लिए महत्वपूर्ण होंगे, चाहे पहले बल्लेबाजी हो या गेंदबाजी। उन्होंने कहा, 'महत्वपूर्ण फैक्टर पहले छह ओवर होंगे। टीमों को इस पर ध्यान देने की जरूरत है, चाहे वे बल्लेबाजी कर रहे हों या गेंदबाजी। मुझे लगता है कि 70 से 80 प्रतिशत खेल उन पहले छह ओवरों पर निर्भर करता है और नतीजा यह होता है कि आप उस अवधि में कितना अच्छा प्रदर्शन करते हैं।'

मुरलीधरन ने कहा, ''लोग बाद के ओवरों को देखेंगे और निश्चित रूप से वे भी महत्वपूर्ण हैं, लेकिन अगर आप शुरूआत में इसे सही नहीं पाते हैं, तो पकडऩे के लिए बहुत कम समय होता है। यह वनडे मैच या टेस्ट मैच की तरह नहीं है, सब कुछ एक अच्छी शुरूआत पर निर्भर करता है। यही कारण है कि मुझे लगता है कि विश्व कप व्यापक रूप से खुला हुआ है।'

श्रीलंका के बारे में उन्होंने कहा कि मौजूदा टीम अच्छा नहीं खेल रही है जिसके कारण ही वह टूर्नामेंट के सुपर-12 स्टेज में नहीं है। मुरलीधरन ने कहा कि श्रीलंका को खेल का आनंद लेने की जरूरत है और उसे दबाव में नहीं आना है।