केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने आज 18-59 आयु वर्ग के लिए बूस्टर डोज यानी एहतियाती खुराक के संबंध में राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के सभी स्वास्थ्य सचिवों के साथ बैठक की। इस बैठक में सरकार ने कहा है कि निजी टीकाकरण केंद्र टीकाकरण के लिए सेवा शुल्क के रूप में अधिकतम 150 रुपये तक ही चार्ज कर सकते हैं।

यह भी पढ़े : Ramnavami Puja : रामनवमी 10 अप्रैल को, त्रिवेणी और रवि पुष्प योग में होगी पूजा, जानें पूजन विधि और शुभ मुहूर्त


केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि एहतियात की खुराक उसी टीके की होगी जिसका इस्तेमाल पहली और दूसरी खुराक के लिए किया गया था। साथ ही बूस्टर डोज के लिए अलग से रजिस्ट्रेशन की आवश्यक्ता नहीं होगा। सरकार का कहना है कि सभी लाभार्थी पहले से ही CoWIN पर पंजीकृत हैं।

केंद्र सरकार ने 10 अप्रैल से निजी केंद्रों पर 18 वर्ष से अधिक उम्र वाले सभी लोगों को कोरोना टीके की एहतियाती खुराक यानी बूस्टर डोज देने का फैसला किया है। जिन्हें टीके की दूसरी खुराक लगवाए हुए नौ महीने हो गए वे इसके लिए पात्र होंगे। सरकारी सूत्रों ने कहा, जल्द ही कोविन वेबसाइट पर इसके लिए बुकिंग स्लॉट भी शुरू किए जाएंगे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने ट्विटर पर कहा, कोरोना के ख़िलाफ लड़ाई अब और मज़बूत होगी।

यह भी पढ़े : रूस का कत्लेआम , शहर छोड़कर भाग रहे लोगों को गोली मारी, सामूहिक कब्र पर मिले 132 शव


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि सरकारी टीकाकरण केंद्रों पर निशुल्क प्राइमरी कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम एवं 60 से अधिक आयु के लोगों, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं तथा अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं के लिए एहतियाती खुराक देने का कार्यक्रम जारी रहेगा। इसे और तेज किया जाएगा। लोगों ने जिस टीके का प्राइमरी टीकाकरण किया है, उसकी की एहतियाती खुराक भी ली जाएगी। निजी केंद्रों में लोगों को टीके का भुगतान करना होगा जिसके लिए हर टीके की अलग-अलग कीमतें पहले ही निर्धारित हैं।

किसे कितनी खुराक

15 वर्ष+ उम्र की 96% आबादी कम से कम एक खुराक और 83% दोनों खुराक ले चुकी है।

60 वर्ष + उम्र के लोगों, स्वास्थ्यकर्मियों आदि को 2.4 करोड़ एहतियाती खुराक मिल चुकी।

12-14 साल के आयु वर्ग में 45 फीसदी किशोरों को टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है।

टीकाकरण का हाल

12-14 वर्ष 2.16 करोड़ खुराक

15-17 वर्ष 9.69 करोड़ खुराक

18-44 वर्ष 107 करोड़ खुराक

45-60 वर्ष 40.44 करोड़ डोज

60 वर्ष से ऊपर 25.70 करोड़ डोज