बंगाल की खाड़ी के ऊपर बने गहरे दबाव का क्षेत्र चक्रवाती तूफान ‘निवार’ में बदल चुका है। मौसम विभाग के अनुसार निवार तूफान आज तमिलनाडु और पुडुचेरी के तट से टकराएगा। इसके बाद तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल के ज्यादातर हिस्सों में भारी बारिश में आशंका जताई जा रही है। गंभीर चक्रवात के मद्देनजर दोनों राज्यों में तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। पुडुचेरी में सीएम नारायणसामी खुद समुद्र तटों पर जायजा लेने पहुंचे।

मौसम विभाग के अनुसार अभी चेन्नई से 50 किमी दक्षिण-पश्चिम में है और उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ रहा है और कल शाम 5 बजे तक तक कराईकल और ममल्लापुरम के बीच पुडुचेरी में लैंडफॉल होगा। इस बीच पुडुचेरी के गांधी तट पर तेज हवाएं बह रही हैं। तेज हवाओं के कारण समुद्र से ऊंची लहरें उठ रही हैं। इसकी वजह से 27 नवंबर तक बारिश हो सकती है।निवार चक्रवात के अलर्ट के बाद पुडुचेरी में खुद मुख्यमंत्री वी नारायणसामी तटीय इलाकों में तैयारी का जायजा लेने गए। नारायणसामी ने बताया, 'सभी विभाग हाई अलर्ट पर हैं और पानी, बिजली की बहाली के लिए करीबी सहयोग से काम करेंगे। हम यह सुनिश्चित करने के लिए ओवरटाइम काम कर रहे हैं कि चक्रवात के चलते किसी तरह की जनहानि न हो।'
चक्रवात के मद्देनजर सुरक्षा तैयारियां भी चाक चौबंद कर ली गई है। एनडीआरएफ के डीजी एसएन प्रधान ने बताया, 'हमारे पास आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पुडुचेरी में कुल 30 टीमें हैं। पुड्डुचेरी और तमिलनाडु में हमारी संयुक्त रूप से 9 टीमें हैं। एक एनडीआरएफ बटालियन अराकोणम और दूसरी विजयवाड़ा में मौजूद है।'