बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कोटे से कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने केंद्र की तत्कालीन कांग्रेस सरकार पर सवाल उठाते हुए आज कहा कि इतने वर्षों से सत्ता में रहने के बावजूद क्यों नहीं जातीय जनगणना करवाई। 

सिंह ने यहां भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में सहयोग कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि केंद्र में लंबे समय तक सरकार में रही कांग्रेस ने अपने कार्यकाल में जातीय जनगणना क्यों नहीं करवाई। अंग्रेजी हुकूमत के दौरान वर्ष 1931 में जातीय जनगणना करवाई गई थी और इसके बाद से देश में कभी भी जातीय जनगणना नहीं कराई गई। मंत्री ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजे गए पत्र और 10 दिनों बाद भी मुलाकात नहीं होने पर कहा कि यह देश के प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के बीच की बात है। 

इस पर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री कुमार ही कुछ बता सकते हैं। साथ ही प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव के मुख्यमंत्री कुमार के अपमान वाले बयान पर कहा कि यादव की अपनी सोच है और इस पर वह किसी तरह की टिप्पणी नहीं करना चाहते। उल्लेखनीय है कि जातीय जनगणना को लेकर मुख्यमंत्री श्री कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा था लेकिन अभी तक प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के बीच मुलाकात नहीं हो सकी है। इसी को लेकर प्रतिपक्ष के नेता श्री यादव ने आज कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी मुख्यमंत्री कुमार का अपमान कर रहे हैं।