बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) ने विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के प्रमुख लालू प्रसाद (Lalu Prasad Yadav) के ‘विसर्जन' वाले बयान पर मंगलवार को कहा, ‘मुझे गोली मरवा दें, सबसे अच्छा यही होगा। बाकी वे कुछ नहीं कर सकते।' कुशेश्वरस्थान और तारापुर में चुनावी जनसभा को संबोधित करने के बाद पटना हवाई अड्डे पर पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने उक्त बात कही। लालू अपने छोटे पुत्र तेजस्वी प्रसाद यादव (Tejashwi Prasad Yadav) द्वारा इन विधानसभा क्षेत्रों में चलाए जा रहे प्रचार अभियान की तारीफ की और जेडीयू नेता नीतीश कुमार का नाम लिए बिना उनपर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘वैसे तो तेजस्वी यादव सभी जगह घूम ही रहे हैं। उखाड़ के वे ही फेंक चुके हैं, उनको। बाकी जो बचा है उसका हम विसर्जन कर देंगे। हमारी पार्टी भारी मतों से जीतेगी।''

राजद (आरजेडी) प्रमुख ने दावा किया कि इन दोनों सीटों पर उनकी पार्टी की जीत के बाद सत्तारूढ़ एनडीए में भगदड़ मच जाएगी। लालू द्वारा प्रचार करने के सवाल पर नीतीश ने कहा, ‘‘सबको चुनाव प्रचार में जाने का हक है, जायें। हमको इसमें क्या करना है।'' नीतीश ने लालू पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘लोगों को काम से कोई मतलब नहीं है। कुछ लोग जेल के अंदर से भी लोगों को फोन करते रहते हैं। ऐसे लोगों पर कुछ नहीं कहना है। ऐसे लोग जवाब दें कि उन्होंने अपने 15 वर्षों के शासनकाल में क्या किया। कितनी सड़कें बनवाई, बिजली के लिए क्या किया, बिहार में शिक्षा का क्या प्रबंध किया। उनलोगों ने अनुसूचित जाति-जनजाति, अति पिछड़े, अल्पसंख्यक समाज और महिलाओं के लिए भी कोई काम नहीं किया। उनलोगों ने अपने समय में व्यापारियों और डॉक्टरों को बिहार से भगा दिया था।''

लालू पर कटाक्ष करते हुए नीतीश ने कहा, ‘‘हम पर बोलेंगे तभी उनको पब्लिसिटी मिलेगी और हम पर नहीं बोलेंगे तो उन्हें क्या पब्लिसिटी मिलेगी। हमलोगों को इसकी कोई चिंता नहीं है। हम लोग जनता की सेवा करते हैं। हम हमेशा कहते हैं कि लोगों की सेवा करना ही हमारा धर्म है। इतने दिनों से हम यही कर रहे हैं और आगे भी करेंगे। जनता की जो भी इच्छा हो, वही मालिक है।'' उन्होंने इन दोनों सीटों से अपनी पार्टी के विधायकों की मृत्यु को दुखद बताते हुए कहा कि उसके कारण उन सीटों पर उपचुनाव हो रहा है। हमें जनता पर पूरा भरोसा है, उन्हीं के हमलोग सेवक हैं।