बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया और अब वह नई सरकार बनने तक कार्यवाहक मुख्यमंत्री के तौर पर काम करते रहेंगे।  नीतीश कुमार ने मंत्रिमंडल की बैठक में 16वीं विधानसभा को भंग करने की सिफारिश करने के लिए गए फैसले के तुरंत बाद राजभवन जाकर राज्यपाल फागू चौहान को मुख्यमंत्री पद से अपने इस्तीफे का पत्र सौंप दिया।  राज्यपाल श्री चौहान ने नई सरकार के गठन तक उन्हें मुख्यमंत्री के तौर पर काम करते रहने को कहा है। 

राज्यपाल से मिलकर लौटने के बाद नीतीश कुमार ने पत्रकारों से बातचीत के बगैर अपने सरकारी आवास लौट गए और उसके बाद वहां से वह अपनी पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के कार्यालय चले गए। 

इससे पहले शुक्रवार सुबह एनडीए के नेताओं की बैठक हुई, जिसमें तय हुआ है कि 15 नवंबर को दोपहर 12:30 बजे एनडीए के विधायकों की बैठक होगी।  इस बैठक में एनडीए के नेता का चुनाव होगा।  उससे पहले की औपचारिकता को पूरा करने के लिए सीएम नीतीश और राज्यपाल ने शुक्रवार शाम को मुलाकात की।  नीतीश कुमार ने कहा कि बैठक में निर्णय होने के बाद सरकार बनाने के लिए राज्यपाल के समक्ष दावा पेश किया जाएगा।  बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव नतीजे के बाद 243 सदस्यीय सदन में 125 सीटों पर जीत के साथ ही एनडीए को पूर्ण बहुमत मिला है।