सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सड़क निर्माण में अत्याधुनिक तकनीकी को बढ़ावा देने की जरूरत पर बल देते हुए कहा है कि सीमेंट और सरिया की कीमत लगातार बढ़ रही है और इनकी मनमानी रोकने के लिए विकल्प खोजने की सख्त जरूरत है। 

 

गडकरी ने दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे की प्रगति की समीक्षा के अपने दो दिवसीय कार्यक्रम के आखिरी दिन शुक्रवार को यहां पत्रकारों से कहा कि सीमेंट और सरिया का विकल्प खोजना आवश्यक हो गया है क्योंकि इन कंपनियों की मनमानी लगातार बढ़ रही है और दाम आसमान छू रहे हैं। उन्होंने कहा कि गुजरात में बड़े पैमाने पर नमक का उत्पादन होता है। नमक के साथ बालू को मिलाकर कंक्रीट की सड़क तैयार कर सीमेंट सरिया का सड़क निर्माण में बेहतर विकल्प हो सकता है। 

गडकरी ने कहा कि निर्माण क्षेत्र में अत्याधुनिक तकनीकी का इस्तेमाल करने के साथ विकल्प के बारे में सोचने की भी आवश्यकता है। उनका कहना था कि नयी टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से काम की गति बढ़ेगी और निर्माण लागत को भी घटाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि उनका मकसद अंतरराष्ट्रीय स्तर की सड़कों का निर्माण करना है। उन्होंने कहा कि वह घोषणा नहीं कर रहे है लेकिन उनका सपना है कि 2024 तक भारत में अमेरिका के स्तर की सड़कों का निर्माण होगा।