केंद्र सरकार पिछले कुछ समय से कारों में मिलने वाले सेफ्टी फीचर्स को लेकर कई ठोस कदम उठा रही है।  एक्सीडेंट्स को कम करने के साथ-साथ मौत के आंकड़ों पर लगाम लगाने के लिए कारों में दिए जाने वाले सेफ्टी फीचर्स बहुत जरूरी हैं।  वहीं इसे लेकर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने एक और बयान दिया है।  उन्होंने कहा कि छोटी कारों में भी बेहतर सेफ्टी फीचर्स दिए जाने चाहिए। 

नितिन गडकरी ने कहा कि, छोटी कारें, जिन्हें ज्यादातर मिडिल क्लास के लोग लोगों खरीदते हैं, उनमें भी ज्यादा एयरबैग होने चाहिए।  उन्होंने कहा मैं हैरान हूं कि, वाहन निर्माता कंपनियां केवल अमीर लोगों द्वारा खरीदी जाने वाली बड़ी और महंगी कारों में ही 8 एयरबैग क्यों देती हैं।  गडकरी ने छोटी और सस्ती कारों में भी ज्यादा एयरबैग्स देने की बात पर जोर दिया।  इससे एक्सीडेंट में होने वाली मौतों के आंकड़ों को कम किया जा सके। 

गडकरी का ये बयान उस समय आया है, जब ऑटो इंडस्ट्री इस बात को लेकर परेशान है कि ज्यादा टैक्स, उत्सर्जन मानक और सख्त सुरक्षा नियमों के चलते गाड़ियों के दाम  बढ़ गए हैं।  गडकरी ने कहा, ज्यादातर मिडिल क्लास के लोग छोटी और सस्ती कारें खरीदते हैं और अगर उनकी कार में एयरबैग नहीं होंगे और जब एक्सीडेंट होते हैं तो इसमें ज्यादा नुकसान होता है।  इसलिए मैं सभी कार निर्माताओं से कारों के सभी वेरिएंट में कम से कम 6 एयरबैग देने की अपील करता हूं।