श्रीनगर। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने गुरुवार को कश्मीर में कई स्थानों पर अल-कायदा से जुड़े आतंकवादी ठिकानों पर छापेमारी की। इन मामलों का खुलासा जुलाई में उत्तर प्रदेश में हुआ था। सूत्रों के अनुसार एनआईए के अनुसार, ये मामले अल-कायदा के उमर हलमंडी से जुड़ा हुआ है, जो अन्य आरोपियों के साथ एक्यूआईएस (भारतीय उपमहाद्वीप में अल-कायदा) को मजबूत करने के लिये काम कर रहा था, इसके साथ ही अंसार गजवतुल हिंद (एजीएच) को उठाने की कोशिश कर रहा था। 

इस काम के लिये हथियार और विस्फोटक पदार्थ पहले ही मुहैया कराये जा चुके थे। उत्तर प्रदेश में सात जुलाई 2021 को पहले इस मामले को एटीएस ने दर्ज किया था फिर बाद में एनआईए ने 29 जुलाई को फिर से इस मामले को दर्ज किया। एनआईए के अधिकारी ने बताया कि इस मामले की जांच के संबंध में गुरुवार को कश्मीर के शोपियां और बडगाम में पांच स्थानों पर तलाशी ली गयी। 

तलाशी के दौरान कई आपत्तिजनक दस्तावेज और डिजिटल उपकरण बरामद हुये हैं। इस मामले में जांच जारी है। इसी बीच, एनआईए द्वारा मानवाधिकार कार्यकर्ता अधिवक्ता परवेज इमरोज के घर पर छापे की बात से परिवार ने इनकार किया है।