राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) (NIA) ने गुरुवार को कनाडा का रहने वाला खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर (Khalistani terrorist Hardeep Singh Nijjar) के खिलाफ भारत में आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में आरोप पत्र दायर किया है। उसे नई दिल्ली में एनआईए विशेष अदालत के समक्ष भारतीय दंड संहिता की धारा 120-बी, 153-बी और गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम की धारा 13,17,18,20,38 और 40 के तहत चार्जशीट किया गया है।

मूल रूप से पंजाब के जालंधर का रहने वाला निज्जर फिलहाल कनाडा में रह रहा है। यह मामला प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल (बीकेआई) (Babbar Khalsa International) के निज्जर और अन्य द्वारा भारत में आतंकवादी कृत्यों को अंजाम देने के लिए रची गई साजिश से संबंधित है। निज्जर पंजाब में लक्षित हत्याओं को अंजाम देने के लिए सहानुभूति रखने वालों का एक नेटवर्क विकसित करने के लिए विभिन्न एमटीएसएस सेवाओं और हवाला चैनलों के माध्यम से भारत में धन भेजता था और अपनी नापाक योजनाओं को अंजाम देने के लिए अपने पाकिस्तान स्थित सहयोगियों से हथियारों और गोला-बारूद की व्यवस्था करने की कोशिश कर रहा था। 

वह ‘सिख फॉर जस्टिस’ (Sikh for Justice) से भी जुड़ा है और ‘खालिस्तान’ के निर्माण के पक्ष में दुनिया भर में सिख समुदाय को कट्टरपंथी बनाने की कोशिश कर रहा है। वह सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए कई पोस्ट, ऑडियो संदेशों और वीडियो के माध्यम से सिखों को अलगाव के लिए वोट देने, भारत सरकार के खिलाफ आंदोलन करने और हिंसक गतिविधियों को अंजाम देने के लिए उकसाने की कोशिश करता है। जांच एजेंसी ने कहा कि उसे गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत एक ‘आतंकवादी’ बताया गया है।