नेशनल हेल्थ मिशन ( NHM ), असम ने स्टाफ नर्स, मैनेजर, सुप्रीटेंडिंग इंजीनियरिंग सहित अन्य 508 रिक्त पदों पर भर्ती के लिए आवेदन पत्र आमंत्रित किए हैं। इच्छुक व याेग्य उम्मीदवार इन पदों के लिए 15 मई 2018 तक आवेदन कर सकते है। आवेदन आैर अन्य जानकारी के लिए नीचे दिए गए अधिसूचना लिंक पर क्लिक करें।

नेशनल हेल्थ मिशन ( NHM ), असम में रिक्त पदाें का विवरणः

• सुप्रीटेंडिंग इंजीनियरिंग(सिविल): 01 पद

• एडिशनल कंसल्टेंट (एमएच): 02 पद

• मिशन डायरेक्टर, पीए: 01 पद

• डिस्ट्रिक्ट मीडिया एक्सपर्ट : 02 पद

• डिस्ट्रिक्ट कम्युनिटी मोबिलाईजर: 01 पद

• असिस्टेंट डिस्ट्रिक्ट डाटा मैनेजर : 09 पद

• ब्लॉक प्रोग्राम मैनेजर : 11 पद

• ब्लॉक अकाउट ऑफिसर : 03 पद

• क्लिनिकल इंस्ट्रक्टर : 11 पद

• ऑडियोलॉजिस्ट (ऑडियोलॉजिस्ट और स्पीच लैंग्वेज पैथोलॉजिस्ट): 06 पद

• ऑडीमेट्रिक असिस्टेंट : 13 पद

• स्टाफ नर्स: 446 पद

• जूनियर इंजीनियर (इंस्ट्रुमेंटेशन): 02 पद

नेशनल हेल्थ मिशन ( NHM ), असम में स्टाफ नर्स, मैनेजर, सुप्रीटेंडिंग इंजीनियरिंग सहित अन्य रिक्त पदाें पर आवेदन करने के लिए योग्यता मानदंड व शैक्षणिक / तकनीकी योग्यता व अनुभव:

सुप्रीटेंडिंग इंजीनियरिंग(सिविल): सिविल वर्क में बैचलर/मास्टर डिग्री होनी चाहिए तथा न्यूनतम 10 वर्षों का कार्य अनुभव आवश्यक, इसके साथ ही अन्य पदों से सम्बंधित विस्तृत शैक्षणिक योग्यता की जानकारी के लिए अधिसूचना को देखें।

नेशनल हेल्थ मिशन ( NHM ), असम में स्टाफ नर्स, मैनेजर, सुप्रीटेंडिंग इंजीनियरिंग सहित अन्य रिक्त पदाें पर आवेदन कैसे करें:

योग्य उम्मीदवार संगठन की अधिकारिक वेबसाइट https://nhm.assam.gov.in/ के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन 15 मई 2018 तक कर सकते हैं।

महत्वपूर्ण तिथिः

आवेदन प्राप्ति की अंतिम तिथि: 15 मई 2018

राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन ( NHM ) का परिचयः

राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन ( NHM ) में स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण के दो विभागों को राष्‍ट्रीय स्‍तर पर एकीकृत किया गया है। इस एकीकरण के परिणाम से देश के ग्रामीण स्‍वास्‍थ्‍य प्रणाली को पुर्नजीवित करने के लिए स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र में आवंटन बढ़ाने और कार्यक्रम कार्यान्‍वयन में महत्‍वपूर्ण समन्‍वय देखा गया है। इसी प्रकार का एकीकरण राज्‍य स्‍तर पर भी किया गया था। इसके अलावा एनएचएम से राज्‍य वित्‍त विभागों के अधिकार क्षेत्र से बाहर राज्‍य स्‍वास्‍थ्‍य समितियों को केंद्रीय वित्‍तीय सहायताओं के हस्‍तांतरण में क्रांतिकारी बदलाव आया है। दूसरा प्रमुख बदलाव रोग नियंत्रण कार्यक्रमों को एनएचएम ढांचे में शामिल करना है।