डिजिटल करेंसी के बढ़ने चलने और इसमें पारदर्शिता नही होने के चलते भारत सरकार समेत देश का शीर्ष बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) समय-समय पर अपनी चिंता जाहिर करते रहते हैं. इन तमाम अटकलों पर विराम लगाने के लिए सरकार डिजिट करेंसी को कानून के दायरे में लाने पर विचार कर रही है, साथ ही आरबीआई खुद की डिजिटल करेंसी (Digital Currency) शुरू करने पर तेजी से काम कर रहा है.

देश का शीर्ष बैंक भारतीय रिजर्व बैंक डिजिटल करेंसी (RBI Digital Currency) पायलट को जल्द ही लॉन्च करने जा रहा है. आरबीआई अधिकारियों की मानें तो यह पायलट अगल वर्ष की पहली तिमाही यानी अप्रैल तक लॉन्च हो जाएगा.

भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) के वार्षिक बैंकिंग और आर्थिक सम्मेलन में एक चर्चा के दौरान रिजर्व बैंक के शीर्ष अधिकारी ने हमारे सहयोगी CNBC-TV18 को बताया कि शीर्ष बैंक खुद की डिजिटल करेंसी को लेकर काम कर रहा है और इसका एक पायलट जल्द ही शुरू किया जाएगा.