इस समय भारत कोरोना की वजह से भयावह परेशानियों से जूझ रहा है और देश में एकबार फिर लाॅकडाउन जैसे हालात हो चुके हैं। वहीं, इस दुनिया में एक देश ऐसा है जहां के लोग कोरोना वायरस से छुटकारा पा चुके हैं और एंजाॅय कर रहे हैं। यह देश न्यूजीलैंड है जहां हाल ही में इस देश में कोरोना काल का सबसे बड़ा म्यूजिक कॉन्सर्ट हुआ है।

न्यूजीलैंड में 50 हजार से अधिक लोगों ने एक म्यूजिक कॉन्सर्ट में मौजूदगी दर्ज कराई। इन लोगों ने ना तो मास्क पहना हुआ था और ना ही इस म्यूजिक फेस्टिवल में किसी भी तरह की सोशल डिस्टेंसिंग देखने को मिली। न्यूजीलैंड के बैंड सिक्स60 ने ऑकलैंड के ईडन पार्क में एक शानदार परफॉर्मेंस दी।

माना जा रहा है कि ये कोरोना महामारी के बीच में अब तक का सबसे बड़ा म्यूजिक फेस्टिवल हैण् न्यूजीलैंड ने जिस हिसाब से कोरोना महामारी से डील किया हैए उसके चलते इस देश की कई स्तर पर तारीफें हो रही हैं। इस देश में कोरोना वायरस से सिर्फ 26 मौतें हुई हैं वही यहां कोरोना के सिर्फ 2601 केसे देखने को मिले हैं।

न्यूजीलैंड ने इंटरनेशनल बॉर्डर को बंद करने, आक्रामक तरीके से कोरोना टेस्टिंग और कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग के सहारे कोरोना वायरस को हराने में सफलता प्राप्त की थीण् इस म्यूजिक फेस्टिवल में पहुंचे एक शख्स ने सोशल मीडिया पर लिखा कि मैं बेहद लकी हूं कि मैं न्यूजीलैंड में रहता हूं क्योंकि हम जैसे लाइफ जी पा रहे हैं, वैसी लाइफ के बारे में दुनिया के कई करोड़ लोग फिलहाल सिर्फ सोच ही सकते हैं।
न्यूजीलैंड ने ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में कोरोना वायरस से डील करने वाले देशों में टॉप भी किया थाण् हालांकि बॉर्डर बंद करने के चलते इस देश की टूरिज्म इंडस्ट्री को झटका लगा था लेकिन फिलहाल न्यूजीलैंड ने ऑस्ट्रेलिया के साथ क्वरानटीन फ्री ट्रैवल शुरू कर दिया है। इसके अलावा इकोनॉमी को बेहतर बनाने के लगातार प्रयास भी किए जा रहे हैं।
इससे पहले स्पेन के बार्सिलोना में पिछले महीने एक म्यूजिक कॉन्सर्ट में 5000 लोग पहुंचे थे। इस इवेंट को प्रशासन ने सपोर्ट किया था और सभी लोगों को कोविड.टेस्ट के बाद ही म्यूजिक कॉन्सर्ट में जाने का मौका दिया गया था। इसे कोरोना महामारी के बाद से यूरोप का सबसे बड़ा म्यूजिक फेस्टिवल बताया गया है।