कोरोना के दक्षिण अफ्रीका में नए वेरिएंट (New variant of Corona) ने हड़कंप मचा रखा है. वहीं भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry of India) ने राज्यों से अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की स्क्रीनिंग और टेस्टिंग (Screening and testing of international travelers) कड़ी करने के लिए कहा है. इन सबके बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi )शीर्ष अधिकारियों के साथ कोरोना वायरस और वैक्सीनेशन से संबंधित स्थिति पर एक महत्वपूर्ण बैठक की. इस स्थिति में प्रधानमंत्री की ये मीटिंग बेहद अहम मानी जा रही है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कोविड-19 स्थिति और टीकाकरण पर शीर्ष सरकारी अधिकारियों के साथ बैठक में कैबिनेट सचिव राजीव गौबा, प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव पीके मिश्रा, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण और नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वीके पॉल मौजूद थे.

प्रधानमंत्री ने कहा, नए वैरिएंट के लिए हमें अभी से तैयारी की जरूरत. 2. जिन इलाकों में ज्यादा केस आ रहे हैं, वहां पर निगरानी और कंटेनमेंट जैसी सख्ती जारी रखी जाए. 3. लोगों को और ज्यादा सतर्क होने की जरूरत है. मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग जैसी चीजों का पालन सही तरह से किया जाए.

प्रधानमंत्री ने कहा, 4. अंतरराष्ट्रीय यात्राओं में छूट देने की योजना की समीक्षा की जाए. 5. कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज की कवरेज बढ़ाने पर फोकस करना चाहिए. 6. राज्यों को इस बात पर ध्यान देना होगा कि जिन्हें पहली डोज मिल गई है, उन्हें दूसरी डोज समय पर दे दी जाए.

मोदी की अध्यक्षता में यह बैठक ऐसे समय बुलाई गई है, जब अफ्रीका में मिले कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर दुनियाभर के देश डर गए हैं. दक्षिण अफ्रीका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इनफेक्शियस डिजीज ने बताया- देश में इस वैरिएंट के अब तक 22 केस मिले हैं. वैज्ञानिकों ने इसे B.1.1.529 नाम दिया है. इसे वेरिएंट ऑफ सीरियस कंसर्न बताया है.