पीएम नरेंद्र मोदी के कैबिनेट में नए रेल मंत्री का पदभार संभालते ही अश्विनी वैष्णव एक्शन में आ गए हैं।  मोदी सरकार के नए रेल मंत्री अश्व‍िनी वैष्णव ने गुरुवार को अपना कार्यभार संभाला और पदभार संभालते ही उन्होंने सबसे पहले अपने ऑफिस के स्टाफ के काम करने की टाइमिंग में बदलाव किया।  रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने अपने कार्यालय में अधिकारियों और कर्मचारियों को दो शिफ्ट में काम करने का आदेश दिया। 

रेल मंत्री के दफ्तर से जारी आदेश के मुताबिक, पहली शिफ्ट सुबह 7 बजे शुरू होगी और शाम 4 बजे समाप्त होगी जबकि दूसरी शिफ्ट दोपहर 3 बजे शुरू होगी और मध्यरात्रि में 12 बजे समाप्त होगी।  रेल मंत्रालय के एडीजी पीआर डीजे नारायण के मुताबिक, यह आदेश सिर्फ एमआर सेल (मंत्री कार्यालय) के लिए जारी किया गया है न कि प्राइवेट या रेलवे स्टाफ के लिए। 

रेल मंत्रालय के एडीजी पीआर डीजे नारायण ने कहा कि रेल मंत्री ने निर्देश दिया है कि मंत्री के दफ्तर रके सभी कार्यालय और कर्मचारी तत्काल प्रभाव से दो शिफ्ट यानी 7:00 बजे से 4:00 बजे और 3:00 बजे -12:00 बजे तक काम करेंगे।  इस आदेश पत्र में लिखा हुआ है कि मिशन मोड पर रेलवे के लिए अभी बहुत कुछ करना है और हर मिटन यहां कीमती है। 

कार्यभार संभालने के बाद नए मंत्री ने कहा था कि रेलवे पीएम मोदी के विजन का अहम हिस्सा है और वह इस विजन को हकीकत में बदलने के लिए काम करेंगे।  उन्होंने कहा कि रेलवे के जरिये लोगों के जीवन को बदलना है ताकि आम आदमी, किसान, गरीबों को इसका लाभ मिले। 

बता दें कि एक पूर्व आईएएस अधिकारी वैष्णव को रेल मंत्री, संचार मंत्री और इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री नियुक्त किया गया है।  वहीं, वैष्णव से पहले रेल मंत्रालय पहले पीयूष गोयल के अधीन था, जिन्हें वाणिज्य और उद्योग मंत्रालयों, उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण और कपड़ा का प्रभार दिया गया है।