भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की त्रिपुरा इकाई ने वरिष्ठ आदिवासी नेता परीक्षित देववर्मा को पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में पार्टी से निष्कासित कर दिया। देववर्मा ने इस बीच नई पार्टी का गठन कर लिए जाने की घोषणा की है। प्रदेश भाजपा ने जारी एक बयान में देववर्मा को निष्कासित किए जाने की जानकारी दी।


इससे पहले आठ दिसंबर को देववर्मा ने पार्टी में सभी पदों से इस्तीफा दिए जाने की मंशा जताई थी, जब भाजपा ने उनके खिलाफ आरोपों की जांच शुरू की। उन्होंने हालांकि अपने ऊपर लगे आरोपों को नकारते हुए कहा था कि उन्हें पार्टी में मतभेदों का सामना करना पड़ रहा है।


देववर्मा ने कहा कि वह भाजपा में अपने समर्थकों के साथ आदि-भाजपा के बैनर तले पहले ही नई पार्टी का गठन कर चुके हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र और राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा क्षेत्रीय मानसिकता की पूर्वाग्रह से ग्रस्त है और यह अपने सिद्धांतों पर अमल करने की बजाय केवल सत्ता-विस्तार की राजनीति कर रही है।