ATM और बैंकिंग सर्विस में दिक्कत होने पर सीधा बैंक अधिकारी पर एक्शन होगा। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने रिटेल डायरेक्ट स्कीम (Retail Direct Scheme) और इंटीग्रेटेड ओम्बड्समैन स्कीम (Integrated Ombudsman Scheme) को लॉन्च किया है। RBI की रिटेल डायरेक्ट स्कीम से गवर्नमेंट सिक्योरिटीज में रिटेल पार्टिसिपेशन के साथ ही इंटीग्रेटेड ओम्बड्समैन स्कीम का मकसद शिकायतों को दूर करने वाली प्रणाली में और ज्यादा सुधार लाया जा रहा है।

पीएम मोदी (pm modi) ने कहा कि आज जिन दो योजनाओं को लॉन्च किया गया है, उनसे देश में निवेश के दायरे का विस्तार होगा और कैपिटल मार्केट्स को एक्सेस करना निवेशकों के लिए अधिक आसान और अधिक सुविधाजनक बनेगा। भारत में सभी गवर्नमेंट सिक्योरिटीज में सुरक्षा की गारंटी होती है, इसलिए छोटे निवेशकों को अपने निवेश पर सुरक्षा का आश्वासन मिलेगा।इंटिग्रेटेड ओंब्डस्मैन स्कीम के तहत बैंकिंग ग्राहकों (bank customers) की शिकायतों को दूर किया जा सकता है। इसका मकसद आरबीआई द्वारा रेगुलेटेड इकाइयों के खिलाफ ग्राहकों की शिकायतें के समाधान की बेहतर व्यवस्था मिलेगी। ये स्कीम वन नेशन-वन ओंब्डस्मैन पर आधारित है। इसमें ग्राहकों को शिकायत करने के लिए एक पोर्टल, एक ईमेल और एक एड्रेस की सुविधा दी गई है। शिकायतों को अपनी शिकायतें दर्ज कराने, दस्तावेजों को सब्मिट करने और फीडबैक देने के लिए एक जगह मिलेगी। शिकायतें के समाधान और शिकायत दर्ज कराने में मदद करने के लिए कई भाषाओं में एक टोल फ्री नंबर भी मिलेगा।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि गवर्नमेंट सिक्योरिटीज (govt securities) में निवेश के लिए फंड मैनेजर्स की जरूरत नहीं पड़ेगी। निवेशक सीधे गिल्ट अकाउंट खोल सकते हैं। ये अकाउंट सेविंग अकाउंट से भी लिंक होगा। उन्होंने कहा कि आप कल्पना कर सकते हैं इससे लोगों को कितनी आसानी होगी।