देश के सूचना प्रौद्योगिकी (IT) मंत्रालय में नए मंत्री की एंट्री के बावजूद सोशल मीडिया कंपनी ट्विटर की मुश्किलें शायद कम नहीं होंगी।  आईटी मंत्रालय के नए मंत्री अश्विनी वैष्णव ने इंडिया टीवी पर ट्विटर के विवाद को लेकर बयान दिया है।  अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि भारत में जो भी व्यक्ति है और जो भी कंपनी है, उन सभी को देश का कानून मानना होगा। अश्विनी वैष्णव को रविशंकर प्रसाद की जगह नया आईटी मिनिस्टर बनाया गया है। 

इससे पहले, नौकरशाह-उद्यमी से नेता बने अश्विनी वैष्णव ने बृहस्पतिवार सुबह देश के नए रेल मंत्री के तौर पर कार्यभार संभाला भारतीय प्रशासनिक सेवा के 1994 बैच के पूर्व अधिकारी वैष्णव ने 15 वर्ष से अधिक समय तक महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां संभालीं।  उन्हें खासतौर से बुनियादी ढांचे में सार्वजनिक-निजी भागीदारी की रूपरेखा बनाने में उनके योगदान के लिए जाना जाता है जो उन्हें रेल क्षेत्र में भी मदद करेगा। 

उन्होंने जनरल इलेक्ट्रिक एंड सिमंस जैसी बड़ी वैश्विक कंपनियों में भी नेतृत्व भूमिकाएं निभायी हैं।  वैष्णव ने पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय के व्हार्टन स्कूल से एमबीए और आईआईटी कानपुर से एम.टेक किया है।  उनके पास संचार और इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी के दो अन्य महत्वपूर्ण विभाग भी रहेंगे। 

वैष्णव ने प्रभार संभालते हुए कहा रेल क्षेत्र में पिछले 67 वर्षों में शानदार काम किया गया है।  मैं यहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दृष्टिकोण के मुताबिक, इसे आगे ले जाने के लिए आया हूं।  नव नियुक्त मंत्री ने बाद में ट्विटर पर प्रधानमंत्री का आभार जताया।  उन्होंने कहा आज केंद्रीय रेल मंत्री के तौर पर प्रभार संभाला. एक बार फिर तहे दिल से मैं, यह जिम्मेदारी मुझे देने के लिए, माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के प्रति आभार जताता हूं।