नए कृषि कानूनों के खिलाफ डटे किसान अपना आंदोलन और तेज करने रहे हैं जिसके तहत पटना में रैली निकाली जाएगी। सरकार को बातचीत का प्रस्ताव देने के साथ ही किसान संगठनों ने नए साल पर देशभर में जगह-जगह प्रदर्शन का ऐलान किया है। किसान संगठनों का कहना है कि वो 1 जनवरी को देशभर में प्रदर्शन करेंगे।

किसान संगठनों ने कई शहरों में रैली करने का प्लान भी बनाया है। इसके तहत कल यानी 29 दिसंबर को पटना और थनजावुर में किसान विरोध रैली करेंगे। इसके अगले दिन यानी 30 दिसंबर को मणिपुर और हैदराबाद में किसान नए कृषि कानूनों के खिलाफ हल्ला बोलेंगे और रैली को संबोधित करेंगे।

इसके साथ ही किसानों ने अनिश्चिकाल के लिए टोल प्लाजा फ्री करने का फैसला किया है। पहले 25 से 27 दिसंबर तक टोल प्लाजा को फ्री करने का प्लान था, लेकिन अब आंदोलन को तेज करने के लिए अनिश्चितकाल तक टोल प्लाजा को फ्री कर दिया गया है. वहीं, 30 दिसंबर को कुंडली-मानेसर-पलवल हाइवे पर ट्रैक्टर रैली निकालने की तैयारी कर ली गई है.

इस बीच बातचीत के लिए किसानों के प्रस्ताव पर फैसला करने के लिए आज केंद्र सरकार की अहम बैठक होनी है। किसानों ने 29 दिसंबर को सरकार के साथ सातवें दौर की बैठक का प्रस्ताव भेजा था, लेकिन इस शर्त के साथ कि बैठक में सबसे पहले तीनों कानून रद्द करने की प्रक्रिया पर चर्चा हो।