सावधान ! अब तक तो आपने डाटा चोरी की ही बात सुनी होगी, लेकिन अब हैकर्स एक कदम और आगे बढ़ गए। अब वे डाटा चुराते नहीं बल्कि अगवा कर लेते हैं। फिर फिरौती पूरी होने पर लौटा देते हैं।जानकारी के अनुसार एंड्रॉयड स्मार्टफोन यूजर्स के लिए यह चौंकाने वाली खबर सामने आई है। 

एक नए रैंसमवेयर यानी वायरस का पता चला है, जो आपके स्मार्टफोन का डेटा अगवा कर लेता है और फिर फिरौती लेकर आपको डेटा वापस करता है। समय-समय पर एंड्रॉयड डिवाइस पर ऐसे हमले होते रहते हैं, लेकिन ये नया रैंसमवेयर पहले से ज्यादा शक्तिशाली बताया जा रहा है। खास बात यह है कि इसकी फोन में मौजूदगी का आसानी से पता नहीं चल पाता। इस कारण एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स या अन्य एंड्रॉयड डिवाइस पर खतरा मंडरा रहा है। साथ ही कंप्यूटर और लैपटॉप यूजर्स को भी इस वायरस से खतरा है।

जानकारी के अनुसार माइक्रोसॉफ्ट की रिसर्च टीम ने हाल ही रिपोर्ट में बताया कि रैंसमवेयर फैमिली में एंड्रॉयडओएस/ मेललॉकर.बी नाम से नया वायरस जुड़ा है, जो यूजर्स के डेटा को अगवा कर लेता है। फिलहाल इसका कोई समाधान नहीं निकल पाया है। टीम के अनुसार यह रैंसमवेयर काफी खतरनाक है। जैसे ही एंड्रॉयड स्मार्टफोन यूजर किसी संदिग्ध सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करता है या सर्च इंजन में उसे तरह-तरह के पॉप अप ऐड्स दिखते हैं, तभी मान लीजिए कि आपका फोन इस वायरस की चपेट में जाने लगा है। ऐसे में कोशिश करें कि सिर्फ जरूरत की साइट ही खोलें।

बताया जा रहा है कि इस नए रैंसमवेयर से बचाव के लिए फिलहाल किसी तरह का सिक्यॉरिटी सॉल्यूशन उपलब्ध नहीं है और कई कंपनियां इसका काट तैयार करने की कोशिश में है। चूंकि यह वायरस काफी शक्तिशाली है ऐसे में यूजर के डेटा पर संकट बरकरार है। सबसे बड़ी बात ये है कि जैसे ही किसी के फोन पर इस रैंसमवेयर का अटैक होता है, वैसे ही फोन के सारे डेटा वायरस की गिरफ्त में चले जाते हैं। फिर हैकर्स वायरस यूजर से मनमाना पैसा वसूल करता है।