भारत से नेपाल जाने वाले लोगों के लिए नेपाल सरकार (Government of Nepal) ने बॉर्डर पर पहचान पत्र दिखाना अनिवार्य कर दिया है।  नेपाल सरकार के गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) के प्रवक्ता फणीन्द्रमणी पोखरेल ने बताया कि यह नियम अभी लागू नहीं किया गया है लेकिन इसकी तैयारी जोर-शोर से की जा रही है। 

नेपाल सरकार की तरफ से यह कहा गया है कि खुली सीमा का फायदा उठाते हुए थर्ड कंट्री के नागरिक आसानी से नेपाल (Citizens of third countries easily enter Nepal) में प्रवेश कर जाते हैं जिससे नेपाल की आंतरिक सुरक्षा पर सवाल के साथ-साथ खतरा भी पैदा हो रहा है।  

नेपाल के सीबीआई टीम द्वारा काठमांडू के एक होटल में अफगानिस्तान के 11 नागरिकों की गिरफ्तारी के बाद नेपाल सरकार के गृह मंत्रालय की एक बैठक हुई, जिसमें आंतरिक सुरक्षा का हवाला देते हुए नेपाल ने यह कदम उठाया है। 

बीते 23 अक्टूबर को नेपाल के काठमांडू में नेपाल की सीबीआई टीम ने एक होटल में छापेमारी की जिसमें 11 की संख्या (11 number of Afghan nationals were arrested) में अफगानी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया था, जिसमें से 6 नागरिकों के पास भारत का फर्जी आधार कार्ड (Fake Aadhar cards of India) भी बरामद हुआ था।  इस खबर के बाद भारत और नेपाल की खुफिया एजेंसी में हड़कंप मच गया था।  बाद में पता चला कि इन अफगान नागरिकों ने भारत से ही आधार कार्ड बनवाया था। 

नेपाल की तरफ से यह निर्णय लागू करने के साथ-साथ नेपाल ने कूटनीतिक तरीके से भारत को भी इस प्रकार के नियम लागू करने का अनुरोध व्यक्त किया है।  बता दें कि बेंगलुरु में हुई बैठक में भी इस मुद्दे को प्रमुखता के साथ उठाया गया था और कहा गया था कि भारत और नेपाल की खुली सीमा का लाभ उठाकर थर्ड कंट्री के नागरिक द्वारा अवैध घुसपैठ किया जाता है और हमारी सुरक्षा का भी या बड़ा सवाल है।  तीसरे देश के नागरिक द्वारा सीमा पार की घटना पर रोक लगाने को लेकर संयुक्त रूप से कारगर कदम उठाने पर भी उस बैठक में बल दिया था। 

भारत और नेपाल (India and Nepal) अलग देश होने के बावजूद एक जैसे ही हैं।  खान-पान, संस्कृति और व्यपारिक दृष्टिकोण की वजह से दोनों मुल्क के लोगों में अपनापन दिखता है।  अररिया के सैंकड़ों लोगों का रिश्ता नेपाल में और भारतीय इलाके के लोगों का रिश्ता नेपाल में अभी भी है, ऐसे में अररिया के लोगों को अब नेपाल में पहचान पत्र के साथ एंट्री के निर्णय पर जिले में हलचल तेज हो गई है।