कांधला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां कोरोना वैक्सीन लगवाने आई तीन बुजुर्ग महिलाओं को रेबीज का टीका लगा दिया गया।  जब एक महिला की तबीयत खराब हुई तब स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का पता चला।  इस लापरवाही के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया. सीएमओ से मामले की शिकायत की गई है। 

टीका लगवाने वाली महिलाओं में कांधला निवासी सरोज (70), अनारकली (72) और 60 वर्षीय सत्यवती शामिल हैं।  दरअसल, तीनों महिलाएं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना की पहली वैक्सीन लगवाने के लिये पंहुची थी।  आरोप है कि स्वास्थ्य केंद्र में मौजूद कर्मचारियों ने तीनों महिलाओं को बाहर से 10-10 रूपये की खाली सिरिज मंगाकर रेबीज का टीका लगाकर अपने घर चले जाने को कह दिया।  शिक्षा का अभाव होने पर महिलाएं अपने घर वापस आ गए। 

टीका लगवाने के बाद जब सरोज घर पहुंची तो उनकी तबीयत बिगड़ गई।  महिला को तेज चक्कर आने के साथ ही घबराहट शुरू हो गई।  परिजनों ने आनन-फानन में निजी डॉक्टर के पास सरोज को उपचार कराने के लिये ले गए। परिजनों ने डॉक्टरों को टीकाकरण की पर्ची दिखाई।  पर्ची देख डॉक्टरों के होश उड़ गए।  निजी डॉक्टर ने बताया कि स्वास्थ्य केंद्र पर महिला को रेबीज का टीका लगाया गया है। 

वहीं, तीनों महिलाओं के परिजनों ने मामले की जांच पड़ताल की तो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के कर्मचारियों की पोल खुल गई।  मामले को लेकर पीड़ित महिलाओं के परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया।  परिजनों ने सीएमओ संजय अग्रवाल से कार्रवाई की मांग की है।