नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) ने कहा है कि शांतिपूर्ण और समृद्ध जम्मू-कश्मीर के सपने को साकार करने के लिए सीमा पार से जीरो घुसपैठ सुनिश्चित करने और आतंकवाद को पूरी तरह से खत्म करने के लिए सुरक्षा ग्रिड को और मजबूत किया जाना चाहिए। शाह ने शनिवार को जम्मू में केन्द्र शासित प्रदेश के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और केन्द्र तथा स्थानीय प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सुरक्षा स्थिति की विस्तार से समीक्षा करते हुए यह बात कही। 

यह भी पढ़े- मंत्रिमंडल की पहली बैठक में पंजाब सरकार ने दिखाया बड़ा दिल, युवाओं को दिया तोहफा

केंद्रीय गृह मंत्री ने सुरक्षा स्थिति में सुधार, आतंकवादी घटनाओं में कमी और विभिन्न घटनाओं में शहीद हुए सुरक्षा बलों के जवानों की संख्या में पिछले वर्षों की तुलना में कमी आने पर संतोष प्रकट किया। उन्होंने आतंकवादियों के खिलाफ सक्रिय अभियान चलाये जाने और उन्हें सुरक्षित पनाहगाह या वित्तीय सहायता से वंचित करने पर जोर दिया। उन्होंने सुरक्षा बलों और पुलिस को प्रभावी आतंकवाद विरोधी अभियानों और जेलों से आतंकवादियों की निगरानी गतिविधियों के लिए वास्तविक समय आधारित समन्वय सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। 

यह भी पढ़े- त्रिपुरा में माकपा के राज्यसभा उम्मीदवार की घोषणा के बाद भाजपा से सीधी लड़ाई

गृह मंत्री ने नार्को आतंकवाद को रोकने के लिए जम्मू-कश्मीर में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो को और मजबूत करने का भी आदेश दिया। शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शांतिपूर्ण और समृद्ध जम्मू-कश्मीर के सपने को साकार करने के लिए सीमा पार से जीरो घुसपैठ सुनिश्चित करने और आतंकवाद को पूरी तरह से खत्म करने के लिए सुरक्षा ग्रिड को और मजबूत किया जाना चाहिए।