कांग्रेस के वरिष्ठ नेता लुइहिंजो फलेरो ने स्वीकार किया है कि पूर्वोत्तर में कांग्रेस की राज्य इकाइयों को आत्ममंथन कर अपनी मजबूती तथा कमजोरियों पर काम करने की जरूरत है। उन्होंने पार्टी में संगठनात्मक बदलाव की बात कही। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के पूर्वोत्तर मामलों के प्रभारी महासचिव फलेरो ने कहा कि पार्टी अगले 15 दिनों में मेघालय के लगभग 6,000 गांवों में पुनर्गठन कार्यक्रम के लिये एक कार्य योजना और एक रोड मैप लेकर आएगी।

उन्होंने दावा किया कि देश इस वक्त मुश्किल दौर से गुजर रहा है, क्योंकि केन्द्र में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार ने आर्थिक और रोजगार के परिदृश्य में सुधार के लिये कुछ नहीं किया है। फलेरो ने कहा, कांग्रेस मुश्किल दौर से गुजर रही है, यह बात हमें स्वीकार करनी होगी। हम अपनी मजबूती तथा कमजोरियों का पता लगाने के लिये आत्ममंथन कर रहे हैं। फलेरो ने यह बातें मेघालय प्रदेश कांग्रेस कमेटी (एमपीसीसी) के नेताओं, पार्टी विधायकों और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक के दौरान कहीं।