चार वर्ष पहले नौसेना के अंतर्राष्ट्रीय बेड़ा निरीक्षण 'इन्टरनेशनल फ्लीट रिव्यू' (आई एफआर) के भव्य आयोजन का गवाह बने विशाखापतनम में नौसेना के एक और अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम 'मिलन 2020' अभ्यास की तैयारियां जोरों पर हैं। आगामी मार्च में होने वाले मिलन अभ्यास में 41 देशों की नौसेनाओं के अपने कौशल का प्रदर्शन करने की संभावना है जिनमें से 30 ने इसमें हिस्सा लेने की पुष्टि कर दी है।


पूर्वी नौसेना कमान के प्रमुख वाइस एडमिरल एस.एम. घोरमाड़े ने इन तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने समीक्षा बैठक में मौजूद नगर प्रशासन, नगर निकायों, पुलिस विभाग तथा सार्वजनिक उपक्रमों के प्रतिनिधियों से इस आयोजन में समर्थन और सहयोग की उम्मीद जतायी। 'मिलन 2020Ó नौसेना का बहुपक्षीय युद्धाभ्यास है। इसका उद्देश्य मित्र देशों की नौसेनाओं के बीच संपर्क बढ़ाना तथा समुद्री क्षेत्र में एक दूसरे की शक्तियों एवं श्रेष्ठ परम्पराओं से सीखना है।


अभ्यास के लिए 41 देशों की नौसेनाओं को आमंत्रित किया गया है जिनमें से 30 ने भागीदारी की पुष्टि की है। समीक्षा बैठक में ग्रेटर विशाखापतनम नगर निगम के आयुक्त डॉ. जी. श्रीजन, महानगर पुलिस आयुक्त राजीव कुमार मीणा, विशाखापतनम महानगर क्षेत्र विकास प्राधिकरण (वीएमआरडीए) के सचिव ए. श्रीनिवास, विशाखापतनम पोर्ट ट्रस्ट (वीपीटी) के मुख्य यांत्रिक अभियंता आर.एन. हरि कृष्ण, हिन्दुस्तान शिपयार्ड लिमिटेड (एचएसएल) हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल), इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल), इंग्रो पोलीमर एंड कैमिकल्स लिमिटेड (ईपीसीएल), कोरोमंडल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड के प्रतिनिधियों तथा विशेष शाखा, कानून व्यवस्था एवं यातायात से जुड़े वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने भागीदारी की।