फ्रांस के सहयोग से देश में ही प्रोजेक्ट-75 के तहत बनायी जा रही चौथी पनडुब्बी आज नौसेना को सौंप दी गयी। इस परियोजना के तहत स्कोर्पिन डिजाइन की छह पनडुब्बी बनायी जा रही हैं। इन पनडुब्बियों का निर्माण मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (एमडीएल) मुंबई में किया जा रहा है। 

इस पनडुब्बी को 'वेला' नाम दिया गया है और इसे 2019 में 6 मई को लॉन्च किया गया था। कोविड प्रतिबंधों के बावजूद इस पनडुब्बी के बंदरगाह तथा समुद्री चरण के हथियार और सेंसर संबंधी सभी परीक्षण सफलतापूर्वक पूरे किये जा चुके हैं। इस श्रेणी की तीन पनडुब्बियां पहले ही भारतीय नौसेना को सौंपी जा चुकी हैं। 

पनडुब्बी का निर्माण एक बेहद जटिल गतिविधि है क्योंकि सभी उपकरणों को उनके बेहद छोटे रूप में बनाना और गुणवत्ता की कड़ी कसौटी पर खरा उतरना एक बडी चुनौती होती है। प्रोजेक्ट -75 श्रेणी की पनडुब्बियों का देश में ही निर्माण 'आत्मनिर्भर भारत' की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है। इस पनडुब्बी को जल्द ही नौसेना के बेड़े में शामिल किया जाएगा जिससे उसकी क्षमता बढेगी।