पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (navjot singh sidhu) की एनआरआई बहन सुमन तूर (suman toor) ने आज आरोप लगाया कि सिद्धू ने वर्षों पहले संपत्ति विवाद में ‘अवसादग्रस्त‘ मां को छोड़ दिया था। सुमन तूर ने कहा कि सिद्धू ने उनके पिता भगवंत सिद्धू (Bhagwant Sidhu) की मौत के बाद उनकी मां निर्मल भगवंत (Nirmal Bhagwant) और बड़ी बहन को घर से बाहर निकाल दिया था। इसके बाद दिल्ली रेलवे स्टेशन पर उनकी लावारिस की तरह मौत हो गई

मीडिया से बातचीत में 70 वर्षीय श्रीमती तूर (navjot singh sidhu sister) ने आरोप लगाया कि सिद्धू का यह दावा गलत है कि उनकी मां-बाप कानूनी रूप से अलग हो चुके थे। उन्होंने कहा कि सिद्धू के ऐसा दावा करने के बाद उनकी मां ने अदालत का दरवाजा खटखटाया था। उन्होंने आरोप लगाया कि उन्होंने मीडिया में जाने से पहले सिद्धू (navjot singh sidhu) से संपर्क करने की कोशिश की थी पर वह उनसे नहीं मिले और फोन पर संदेश भेजे जाने पर नंबर भी ब्लॉक कर दिया। सिद्धू की बहन सुमन तूर (suman toor) ने कहा, वे नवजोत सिंह से मिलने अमृतसर उनके घर गईं थीं, लेकिन उन्होंने गेट नहीं खोला। यहां तक सिद्धू ने उन्हें व्हाट्सऐप पर ब्लॉक कर दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि 1986 में उनके पिता भगवंत सिद्धू की मौत हुई थी, इसके तुरंत बाद सिद्धू ने मां को उनके साथ घर से निकाल दिया।

उन्होंने बताया कि सिद्धू (navjot singh sidhu) ने ये सब प्रॉपर्टी के लिए किया था। वहीं उनकी मां ने अपनी छवि बचाने के लिए दिल्ली के चक्कर काटे और अंत में दिल्ली रेलवे स्टेशन पर उनकी लावारिस की तरह मौत हो गई। सुमन तूर ने कहा कि वो 1990 में अमरीका चली गई थीं, लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू ने अपनी मां निर्मल महाजन उर्फ निर्मल भगवंत के साथ काफी ज्यादतियां की और उन्होंने कई बार अपने भाई नवजोत सिंह सिद्धू से बात करने की कोशिश की लेकिन सिद्धू ने घर घुसने की उन्हें इजाजत नहीं दी। इस बीच सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर (Navjot Kaur) ने मीडिया के सवालों के जवाब में कहा कि सुमन सिद्धू की सौतेली बहन हैं और वह उन्हें नहीं जानते।