पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर नवजोत सिंह सिद्धू ने सबको चौंका दिया है। लेकिन Navjot Singh Sidhu Resign को लेकर मुख्यमंत्री charanjit singh channi ने बड़ी बात कही है। उन्होंने कहा कि अभी उन्हें इसके बारे में जानकारी नहीं है। उनसे प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उनसे सिद्धू के इस्तीफे को लेकर सवाल किया गया था। उन्होंने कहा कि सिद्धू अगर नाराज हैं तो उनसे बात की जाएगी। सीएम ने कहा, "सिद्धू हमारे अध्यक्ष हैं और वे एक अच्छे नेता हैं। मुझसे उनकी कोई नाराजगी नहीं है।"

मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार से एक बार फिर अपील की कि तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लिया जाए। किसानों के भले के लिए ऐसा करना बेहद जरूरी है। हमारी सरकार किसान संगठनों के साथ खड़ी है। हम उनके पीछे खड़े होकर लड़ाई लड़ेंगे। अगर केंद्र ने ये मांग नहीं मानी तो हम बड़ी संख्या में दिल्ली कूच करेंगे।
मुख्यमंत्री ने राज्य के गरीब लोगों कर्जे माफ करने का एलान किया। किसान आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों के परिवार के सदस्यों के लिए नौकरी की व्यवस्था होगी। उन्होंने कहा कि आज किसान और मजदूर संकट में हैं। कल जिस किसान के घर मैं गया तो उसके सिर पर छत नहीं है।

नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा भेजा है। अपने इस्तीफे में उन्होंने लिखा, “इंसान का पतन समझौते से होता है। मैं कांग्रेस के भविष्य और पंजाब की भलाई के एजेंडे से कभी समझौता नहीं कर सकता। इसलिए मैं प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देता हूं। पार्टी के लिए काम करता रहूंगा।”