बर्लिन। जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज ने गुरुवार को कहा कि नाटो की यूक्रेन में मिसाइल तैनात करने की कभी कोई योजना नहीं थी। स्कोल्ज ने गुरुवार देर रात जेडडीएफ ब्रॉडकास्टर को बताया, 'वह (रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन) यूक्रेन में मिसाइलों को तैनात करने की नाटो की योजना को लेकर चिंतित थे, जो मॉस्को को निशाना बना सकती थीं लेकिन किसी की भी ऐसी योजना नहीं थी।'

यह भी पढ़ें- ये हैं रूस के चार जिगरी दोस्त देश, हर समय कुछ भी करने को रहते हैं तैयार

जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज ने कहा कि यूक्रेन को हथियारों की आपूर्ति करने का निर्णय सही कदम है। उन्होंने कहा, 'यूक्रेन पर (रूसी) हमले के कारण हम इस फैसले को सही मानते हैं।' 

जर्मनी के चांसलर ओलाफ स्कोल्ज (German Chancellor Olaf Scholz) ने गुरुवार को कहा कि जर्मनी ने रूस से होने वाले गैस आयात को बदलकर दूसरे देशों से शुरू कर दिया है, हालांकि अभी भी कुछ ईंधन रूस से ही खरीदा जा रहा है। 

यह भी पढ़ें- रूस यूक्रेन युद्ध के बीच पुतिन की बेटी के पीछे पड़ी दुनिया, खू​बसूरती देख दीवाने हुए लोग

स्कोल्ज ने जेडडीएफ प्रसारक से कहा, 'हमने दूसरे देशों से गैस खरीदने की तैयारी की है, हम ऐसा करते आए हैं और करते रहेंगे।' साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जर्मनी गैस, तेल व कोयला अभी भी रूस से खरीद रहा है। चांसलर ने कहा कि नॉर्ड स्ट्रीम 2 गैस पाइपलाइन को स्थगित करने का निर्णय सही समय पर लिया गया था।