रूस और पश्चिमी देशों के बीच तनाव अब लगातार बढ़ता जा रहा है। क्रीमिया को लेकर रूस ने पश्चिमी देशों को बड़ी चेतावनी दी है। रूस के पूर्व राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव ने कहा है कि क्रीमिया प्रायद्वीप पर कोई भी अतिक्रमण रूस के खिलाफ की घोषणा होगी जो कि विश्व युद्ध 3 का कारण बन सकता है।

यह भी पढ़ें : मिजोरम प्रेस्बिटेरियन चर्च ने असम बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए 8 लाख दिए

मेदवेदेव ने यह भी कहा कि हमारे लिए क्रीमिया रूस का हिस्सा है और यह हमेशा के लिए है। क्रीमिया पर अतिक्रमण करने की कोई भी कोशिश रूस के खिलाफ युद्ध की घोषणा है। उन्होंने आगे कहा कि अगर नाटो गठबंधन द्वारा क्रीमिया पर किसी तरह के अतिक्रमण की कोशिश होती है तो यह तीसरे विश्व युद्ध की शुरुआत होगी।

यह भी पढ़ें : रेलवे पूर्वोत्तर के बाढ़ प्रभावित राज्यों में राहत सामग्री मुफ्त में पहुंचाएगा

मेदवेदेव मौजूदा वक्त में रूसी सुरक्षा परिषद के उपाध्यक्ष हैं। उन्होंने कहा है कि अगर फिनलैंड और स्वीडन जैसे देश नाटो में शामिल हो जाते हैं तो रूस अपनी सीमाओं को और मजबूत करेगा और जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार होगा और इसके तहत इस्कंदर हाइपरसोनिक मिसाइलों को हम अपनी सीमा पर स्थापित कर सकते हैं।