भाजपा सरकार में भारत के एक राज्य में 1.29 लाख विदेशी घुसपैठिए लोग खोज निकाले हैं। इसकी जानकारी विभिन्न ट्रिब्यूनल द्वारा दिए गए आंकड़ों को मिलाने के बाद उदी गई है। विदेशी घुसपैठियों से भर चुका यह राज्य कोई और नहीं बल्कि असम है जहां 1.29 हजार लोगों को विदेशी और 1,14,225 लोगों को भारतीय घोषित किया गया है। केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय ने असम सरकार की तरफ से उपलब्ध कराई गई इस सूचना से लोकसभा को अवगत कराया।

गृह राज्यमंत्री ने एक सवाल का लिखित जवाब देते हुए कहा कि इस साल अक्टूबर तक कुल 4,68,905 मामलों को फॉरेन ट्रिब्यूनल्स में भेजा गया। असम के सभी फॉरेन ट्रिब्यूनल्स को फॉरेनर्स एक्ट 1946 व फॉरेन (ट्रिब्यूनल्स) ऑर्डर 1964 के तहत गठित किया गया है।

एक अन्य सवाल के जवाब में मंत्री ने असम सरकार की तरफ से उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के आधार पर बताया कि इस साल राज्य में पकड़े गए लोगों में से 289 विदेशी घोषित किए गए। पांच दिसंबर 2019 तक विदेशी घोषित 227 को उनके देश वापस भेज दिया गया है। इनमें चार बांग्लादेशी व दो अफगानी नागरिक शामिल हैं।

मंत्री ने बताया कि 181 विदेशी घोषित व 44 सजायाफ्ता विदेशी हिरासत शिविरों में तीन साल से ज्यादा समय बिता चुके हैं। उन्होंने कहा कि पिछले छह महीने के दौरान असम के किसी भी हिरासत शिविर में किसी विदेशी द्वारा आत्महत्या किए जाने की बात सामने नहीं आई है।