NIC के कंप्यूटर्स में सेंधमारी होने की खबर सामने आई है जिसनमें PM-NSA समेत कई गुप्त जानकारयां मौजूद थीं। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल टीम ने इस मामले में सितंबर के शुरुआत में ही केस दर्ज किया है। NIC के इन कंप्यूटर्स में भारतीय सुरक्षा, नागरिक, बड़े वीआईपी हस्तियों से जुड़ा डाटा उपलब्ध रहता है। इनमें प्रधानमंत्री से लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार तक का डाटा शामिल है।
जानकारी के मुताबिक, ये हमला बेंगलुरु की एक फर्म से किया गया है। एनआईसी के कर्मचारियों को एक मेल आया था जिसने उस मेल के लिंक को क्लिक किया उसका डाटा गायब हो गया। खबर है कि इस साइबर हमले में करीब सौ कंप्यूटर्स को निशाना बनाया गया था। जिसमें कुछ NIC के थे और कुछ IT मंत्रालय से जुड़े थे।
इस मामले के बाद एनआईसी की शिकायत पर दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। अभी इस मामले की जांच चल रही है, लेकिन सूत्रों की माने तो बेंगलुरु में एक अमेरिकी कंपनी से ये मेल आया था। जिसकी जानकारी आईपी एड्रेस से प्राप्त हुई है।
आपको बता दें कि अभी कुछ दिन पहले ही एक रिपोर्ट में दावा किया गया था कि चीन की कुछ कंपनियां करीब दस हजार भारतीयों पर नजर रख रही हैं। इनमें प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, वरिष्ठ अधिकारी, केंद्रीय मंत्री, मुख्यमंत्री, नेता, खिलाड़ी, अभिनेता समेत कई हस्तियों के डाटा पर नजर रखी जा रही है। चीनी कंपनी इन सभी की हर हलचल को रिकॉर्ड कर रही है।
इस खुलासे का मुद्दा संसद में उठा था, जिसके बाद विदेश मंत्रालय की ओर से चीनी दूतावास में शिकायत दर्ज कराई गई। साथ ही एक कमेटी का गठन किया गया है जो पूरे मामले को देख रही है।