अखिल भारतीय किसान सभा का 34वां राष्ट्रीय सम्मेलन 3 से 6 अक्टूबर हिसार में आयोजित किया जाएगा। पहले दिन 3 अक्टूबर त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार किसानों की रैली को संबोधित करेंगे। 

रैली की तैयारियों के लिए सभी द्वारा बास में जनसंपर्क अभियान चलाया गया। हांसी क्षेत्र की स्वागत समिति के सदस्य रामअवतार सुलचानी ने बताया कि जनसंपर्क अभियान के दौरान किसानों ने बताया कि कृषि संकट के कारण भारी निराशा है। उन्होंने कहा कि सरकार की कृषि विरोधी नीतियों से कृषि उत्पादों के भाव में लगातार गिरावट के कारण किसान कर्जे में आत्महत्याएं कर रहे हैं। 

स्वागत समिति की टीम का नेतृत्व चंद्रसिंह बास, राजेश सोलंकी, राजकुमार मेट, सुरेंद्र मेट, आशा खन्ना ने किया और घर-घर जाकर रैली में बढ़-चढ़कर हिस्सेदारी करने के लिए न्यौता दिया। जनसंपर्क अभियान के तहत पूर्व सरपंच रामनिवास, पूर्व सरपंच शीतल बास खुर्द, इंद्र सिंह प्रधान सतरोल खाप, हट्टी पहलवान, तीर्थ नंबरदार, राममेहर मोर, ओमप्रकाश मोर, एडवोकेट प्रदीप सिंह मोर, जसवीर पूर्व सरपंचए बलवान सिंह प्रतिनिधि सरपंच बास आजमशाहपुर मौजूद रहे।