तृणमूल कांग्रेस समर्थकों ने ममता मंत्रिमंडल के दो मंत्रियों की गिरफ्तारी के विरोध में सोमवार को केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और राज्यपाल भवन परिसर को घेर लिया। तृणमूल कांग्रेस समर्थक मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के दो मंत्रिमंडलीय सहयोगियों फिरहाद हाकिम और सुब्रत मुखर्जी को नारदा स्टिंग आपरेशन मामले में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किये जाने के विरोध में यह घेराव कर रहे हैं। 

दोनो मंत्रियों की गिरफ्तारी की जानकारी मिलते ही बनर्जी निजाम पैलेस पहुंच गयी और इन गिरफ्तारियों का विरोध किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि मंत्रियों की गिरफ्तारी गैरकानूनी है और यह बलपूर्वक की गयी हैं। उन्होंने मांग की यदि उनके मंत्रियों को रिहा नहीं किया जाता तो उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया जाए। सीबीआई ने आज हाकिम, मुखर्जी, तृणमूल विधायक मदन मित्रा और पूर्व मेयर शोवन चटर्जी को गिरफ्तार किया। 

ये गिरफ्तारियां पत्रकार मैथ्यू सैमुअल के 2016 में नारदा स्टिंग आपरेशन के मद्देनजर की गयी हैं। गिरफ्तार किये गये चारों लोगों को सीबीआई निजाम पैलेस ले गयी है। निजाम पैलेस के सूत्रों ने बताया कि गिरफ्तार किये गये चारों नेताओं को अदालत में वर्चुअल तरीके से पेश किया जायेगा क्योंकि दक्षिण कोलकाता स्थित एजेंसी बोस रोड स्थित सीबीआई कार्यालय के बाहर सैकड़ों तृणमूल कांग्रेस समर्थक जमा हैं और उन्होंने एक तरह से भवन के मुख्य द्वार को घेर रखा है। वहां पथराव और टायर जलाये जाने की घटनायें देखी गयी हैं।