नागालैंड की पुलिस ने भरतपुर जिले कैथवाड़ा थाने के गांव झेंझपुरी में दबिश देकर खुद को भारतीय सेना का जवान बताकर मोबाइल बेचने के नाम पर ठगी करने के दो शातिर ठग बदमाश भाइयों को गिरफ्तार किया है।पुलिस दोनों को कामां सिविल जज न्यायालय में पेश कर अपने साथ नागालैंड लेकर रवाना हो गई।

जानकारी के अनुसार दीमापुर निवासी एक महिला प्रोफेसर से झेझपुरी गांव निवासी दो भाईयों साबिर व साकिर मेव ने फोन पर संपर्क साध कर अपने आपको भारतीय सैनिक बताते हुए मोबाइल बेचने के नाम पर झांसे में ले लिया और करीब 70 हजार ऑनलाइन पेमेंट डलवाने के बाद मोबाइल को कोरियर से भेजने का वादा  किया, लेकिन पैसे जमा कराने के बाद भी मोबाइल नहीं भेजा तो महिला प्रोफेसर प्रोफेसर को ठगी का एहसास हुआ।

इस संबंध में महिला प्रोफेसर द्वारा स्थानीय थाने में मामला दर्ज कराने के बाद पुलिस हरकत आई और अनुसंधान के बाद नागालैंड पुलिस की टीम SP अमित निगम के नेतृत्व में भरतपुर पहुंची। जहां उन्होंने भरतपुर एसपी से मुलाकात कर मामले से अवगत कराया। SP के निर्देश पर एसओजी व कैथवाड़ा पुलिस के सहयोग से गांव झेंझपुरी में दबिश देकर आरोपी दोनों ठग बदमाश भाइयों साकिर व साबिर मेव को दबोच लिया। नागालैंड पुलिस के एसपी अमित निगम ने बताया कि आरोपी अब तक करीब एक करोड रुपए की ठगी की घटना को अंजाम दे चुके हैं जिनका पूछताछ के बाद खुलासा संभव है।