नागालैंड विधानसभा के लिए मंगलवार को हुए चुनाव में 75 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। नागालैंड में छिटपुट घटनाओं को छोड़कर आम तौर पर मतदान शांतिपूर्ण रहा और 3 मार्च को चुनाव के रिजल्ट भी आने हैं। रिजल्ट आने से पहले हम आपको बताने जा रहे है कि नागालैंड का इतिहास क्या रहा हैं।


नागालैंड 1 दिसंबर 1963 को भारतीय संघ का 16वां राज्‍य बना। यह राज्‍य पूर्व में म्‍यांमार, उत्‍तर में अरूणाचल प्रदेश, पश्चिम में असम और दक्षिण में मणिपुर से घिरा हुआ है। नागालैंड राज्‍य का क्षेत्रफल 16,579 वर्ग कि.मी. और 2018 में राज्य की आबादी 3.121 मिलियन  हैं। असम घाटी की सीमा से लगे क्षेत्र के अलावा इस राज्‍य का क्षेत्र ज्यादातर पहाड़ी है। बारहवीं-तेरहवीं शताब्‍दी में इन लोगों के असम के अहोम लोगों से धीरे-धीरे संपर्क हुआ, लेकिन इससे इन लोगों के रहन-सहन पर कोई विशेष प्रभाव नहीं पड़ा। उन्‍नीसवीं शताब्‍दी में अंग्रेजों के अाने के बाद क्षेत्र ब्रिटिश प्रशासन के अधीन आ गया।


1957 आजादी के बाद में यह क्षेत्र केंद्रशासित प्रदेश बन गया और असम के राज्‍यपाल द्वारा इसका प्रशासन देखा जाने लगा। यह नगा हिल्‍स तुएनसांग क्षेत्र कहलाया।1961 में तुएंनसांग को ही नाम बदलकर 'नागालैंड' रखा गया और इसे भारतीय संघ के राज्‍य का दर्जा दिया गया। जिस‍का उद्घाटन 1 दिसंबर, 1963 को हुआ। नागा लोग भारतीय-मंगोल वर्ग लोगों में से है, जो भारत की उत्‍तर-पूर्वी पहाडियों से सटे क्षेत्रों और पश्चिमी म्‍यांमार के ऊपरी भाग में रहते हैं। नागालैंड की प्रमुख जनजातियां है: अंगामी, आओ, चाखेसांग, चांग, खिआमनीउंगन, कुकी, कोन्‍याक, लोथा, फौम, पोचुरी, रेंग्‍मा, संगताम, सुमी, यिमसचुंगरू और ज़ेलिआंग है।


सबसे खास बात तो ये है कि नागालैंड के नगा जनजीवन का मूल भूत अंग उनका संगीत और नृत्‍य हैं। वीरता, सुंदरता, प्रेम और उदारता का गुणगान करने वाले लोकगीत और लोकगाथाएं पीढ़ी-दर-पीढ़ी चली जा रही हैं। हर त्‍योहार पर दावत, नाच-गाना और उल्‍लास होता है। यहां अंग्रेजी हिंदी और 16 आदिवासी बोलियां बोली जाती है।

एक शहर एक ट्रेन
बता दें कि नागालैंड एक मात्र एेसा शहर है जहां ट्रेन और विमान सेवाएं उपलब्‍ध हैं । कोलकाता से दीमापुर को जोड़ने के लिए सप्‍ताह में तीन दिन इंडियन एयरलाइंस की उड़ान सेवाएं उपलब्‍ध हैं ।