भाजपा और उसके गठबंधन सहयोगियों को ‘नगालैंड के लोगों के जीवन जीने के तरीकों के साथ खिलवाड़ करने से रोकने’ के लक्ष्य से कांग्रेस उन विधानसभा सीटें पर धर्मनिरपेक्ष उम्मीदवारों का समर्थन करेगी जिन सीटों पर वह स्वयं चुनाव नहीं लड़ रही है। कांग्रेस ने 60 सदस्यीय विधानसभा चुनाव में 19 सीटों पर प्रत्याशी उतारे हैं। कांग्रेस के 20 उम्मीदवारों ने नामांकन भरा था, लेकिन उनमें से एक ने बाद में नामांकन वापस ले लिया।


नगालैंड प्रदेश कांग्रेस समिति ने एक बयान में कहा, ‘इस फैसले का लक्ष्य भाजपा और उसके गठबंधन सहयोगियों को हमारे लोगों के अधिकारों को कमजोर करने और हमारी जीवन पद्धति में खलल डालने से रोकना है।’ पार्टी की ओर से जारी बयान के अनुसार, कांग्रेस के अपने कार्यकर्ताओं से कहा है कि लोगों के अधिकारों की रक्षा के लिए वह धर्मनिरपेक्ष दलों के प्रत्याशियों का समर्थन करें।


भाजपा ने एनडीपीपी के साथ गठबंधन किया है। गठबंधन का नेतृत्व तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके और वर्तमान सांसद नेफियू रियो कर रहे हैं। भाजपा और एनडीपीपी प्रदेश की 60 में से क्रमश: 20 और 40 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं।