पटना । नागालैंड में फरवरी-मार्च में होने वाले विधानसभा चुनाव में जदयू अपनी सक्रिय भागीदारी निभाएगा। पार्टी के प्रधान राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी और राष्ट्रीय महासचिव आफाक अहमद खान शुक्रवार को नागालैंड जाएंगे और जदयू नेताओं से विमर्श करेंगे।

जदयू नागालैंड में 2003 से लगातार विधानसभा चुनाव लड़ता रहा है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार द्वारा सेनचुमो एनएसएन लोथा को हाल में जदयू की नागालैंड इकाई का संयोजक नियुक्त किया गया है। उसके बाद से नागालैंड इकाई काफी सक्रिय होकर चुनावी तैयारी में व्यस्त है। 

त्यागी ने बताया कि चुनाव के मद्देनजर नागालैंड विधानसभा के पूर्व स्पीकर थनेचो, जो वर्तमान सरकार में अभी मंत्री हैं, 10 दिसंबर को नीतीश कुमार से दिल्ली में मिले थे। उन्होंने जदयू की वहां मजबूत स्थिति देख इसे सत्तारूढ़ गठबंधन में शामिल होने का न्योता दिया है।

 

त्यागी ने बताया कि कुल 60 विधानसभा सीटों वाले प्रदेश में जदयू 2003 से लगातार चुनाव लड़ते हुए अपनी मजबूत स्थिति दर्ज कराता रहा है। 2003 में पार्टी ने 13 उम्मीदवार उतारे थे जिनमें से तीन सीटों पर जीत हासिल हुई थी। 2013 में एक सीट पर जीत हुई थी।

 

इस सीट पर विजयी हुए बीएस नगानलंग को पार्टी ने अपना राष्ट्रीय महासचिव भी बनाया था। इस बीच नागालैंड के चर्चित नेता मंजुन लोथा ने जदयू में दोबारा शामिल होने की इच्छा जताई है। वह पूर्व में प्रदेश इकाई के अध्यक्ष रह चुके हैं।