नागालैंड के मुख्यमंत्री डॉ. शूर्होजेली लीजित्सु ने आगामी 29 जुलाई को होने वाले विधानसभा उप चुनाव के लिए उत्तरी अंगामी-1 (सुरक्षित) सीट से नामांकन दाखिल किया। डॉ. लीजित्सु ने नामांकन दाखिल करने के बाद संवाददाताओं से कहा कि नागालैंड का मौजूदा राजनीतिक संकट नागा पीपुल्स फ्रंट पार्टी का आंतरिक मामला है तथा वे आपसी तालमेल से इस समस्या का हल निकालने की कोशिश करेंगे। 

मुख्यमंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा कि अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि वह 2018 में विधानसभा चुनाव लड़ेंगे या नहीं। उन्होंने कहा कि जो विधायक इस समय असम के काजीरंगा में प्रचार कर रहे हैं, वह जल्द उनके साथ जुड़ेंगे और उनके लिये प्रचार करेंगे। डॉ. लीजित्सु ने बताया कि उनका बेटा ख्रिएहू लीजित्सु उनकी उम्मीदवारी के साथ है। 

गौरतलब है कि उत्तरी अंगामी-1 विधानसभा क्षेत्र डॉ. लीजित्सु का गृह क्षेत्र है, लेकिन डॉ. लीजित्सु ने वर्ष 2013 में स्वयं इस सीट से चुनाव नहीं लड़कर अपने अपने बेटे को यहां से चुनाव लड़वाया था। वह यहां से विजयी हुये थे और संसदीय सचिव बने थे लेकिन उन्होंने गत 24 मई को अपने पिता के चुनाव के लिये विधायक पद से इस्तीफा दे दिया।