गृह मंत्रालय (एमएचए) ने मामले पर स्वत: संज्ञान लेते हुए भाजपा युवा विंग के एक कार्यकर्ता की रहस्यमय मौत पर पश्चिम बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी है, जिसका शव कोसीपुर रोड पर एक रेलवे लाइन के पास एक सुनसान कमरे में लटका मिला था।

ये भी पढ़ेंः रेलवे ने क‍िया नियमों में बदलाव, ट‍िकट बुक‍िंग पर आपको होगा इतना बड़ा फायदा


मंत्रालय ने राज्य सरकार से भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) कार्यकर्ता की मौत पर एक रिपोर्ट देने को कहा है, जिसकी पहचान अर्जुन चौरसिया (26) के रूप में हुई है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को मृतक के घर का दौरा किया और मामले की सीबीआई जांच की मांग के बाद गृह मंत्रालय ने यह कदम उठाया। भाजपा की बंगाल इकाई ने आरोप लगाया है कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने भाजयुमो कार्यकर्ता की हत्या कर उसे फांसी पर लटका दिया।

ये भी पढ़ेंः तैयार हो गई भारत की सबसे तेज दौड़ने वाली ट्रेन, लुक देखकर ही खुश हो जाएगा मन


इस घटना के कारण शाह की सभी नियुक्तियां भी रद्द कर दी गईं, जो गुरुवार से पश्चिम बंगाल के दो दिवसीय दौरे पर हैं। चौरसिया के परिजनों से मुलाकात के बाद शाह ने कहा, गृह मंत्रालय चौरसिया की मौत को गंभीरता से ले रहा है और इस संबंध में रिपोर्ट मांगी है। चौरसिया की मौत की सीबीआई जांच की मांग करते हुए, शाह ने आगे कहा कि बंगाल में हिंसा और भय मनोविकृति की संस्कृति प्रचलित है और मैं राज्य में जहां भी जाता हूं, मुझे राजनीतिक हिंसा, बदला लेने के हमलों की रिपोर्ट मिलती है।