उत्तरी कोलकाता के कोसीपोर इलाके में शुक्रवार को एक भाजपा कार्यकर्ता का शव रेलवे यार्ड के पास एक सुनसान कमरे से मिलने के बाद इलाके में तनाव फैल गया। मृत व्यक्ति की पहचान भाजपा युवा मोर्चा से जुड़े कार्यकर्ता आर्यन चौरसिया (26) के रूप में हुई। यह घटना उस समय हुई जब केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह राज्य के दो दिवसीय दौरे पर हैं। पुलिस ने बताया कि मौके से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है।

ये भी पढ़ेंः Love Jihad: प्यार में फंसाकर बी फार्मेसी की छात्रा का गैंगरेप और हत्या, लव जेहाद का है शक


कमरे में फंदे से लटके शव का पता चलने पर स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना चितपुर थाने को दी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेने का प्रयास किया तो स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं और पीडि़त के परिजनों ने उसकी हत्या का आरोप लगाते हुए विरोध किया। परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया कि पिछले साल पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव खत्म होने के बाद से स्थानीय तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा चौरसिया को लगातार धमकी दी जा रही थी।

ये भी पढ़ेंः इस सरकारी बैंक की बंद करनी पड़ेगी 600 ब्रांच, आपका क‍िस शाखा में है खाता


जल्द ही, भाजपा के उत्तरी कोलकाता अध्यक्ष कल्याण चौबे भी मौके पर पहुंचे और आरोप लगाया कि चौरसिया की हत्या सत्तारूढ़ पार्टी के कार्यकर्ताओं ने की है। पीडि़त परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया कि गुरुवार को आर्यन चौरसिया को वेतन मिला था और घर लौटने के बाद फिर बाहर चला गया था। लेकिन देर रात तक वह घर नहीं लौटा। उसके परिवार के सदस्यों ने उसके मोबाइल फोन के जरिए उस तक पहुंचने की कोशिश की, लेकिन उसने फोन नहीं उठाया। आखिरकार शुक्रवार की सुबह रेलवे यार्ड के पास एक सुनसान कमरे में उसके शव की शिनाख्त हुई। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पार्टी सांसद दिलीप घोष ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि पार्टी के एक कार्यकर्ता की हत्या तब हुई जब केंद्रीय गृह मंत्री राज्य के दो दिवसीय दौरे पर हैं। घोष ने कहा, हमने केंद्रीय गृह मंत्री से पीडि़त के परिवार के सदस्यों से मिलने का अनुरोध किया है। अगर समय मिला तो वह निश्चित रूप से आएंगे और परिवार के सदस्यों से मिलेंगे।