म्यांमार में सैन्य तख्तापलट के बाद हालात बहुत ही गंभीर है। यहां सेना के खिलाफ विरध कर रहे आम लोगों के साथ सेना बहुत ही बुरा बरताव कर रही है। देखा जाए तो सेना यहां खून से होली खेल रही है। म्यांमार में 1 फरवरी को सैन्य तख्तापलट के बाद सेना ने लोकतंत्र की बहाली की चाहत रख रही है। सैन्य तख्तापलट के खिलाफ प्रदर्शन में कर रहे म्यांमारवासियों को सेना सीधा मौत के घाट उतार रही है। अब तक कम से कम 300 से ज्यादा लोगों को सेना मार चुकी है।

सेना ने अपने विरोधियों को हिंसा में कुल 2,981 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 320 लोग मार दिया हैं। गैर-लाभकारी संगठन AAPP ने बताया कि यंगून के थिंगांग्युन टाउनशिप, सागांग क्षेत्र में खिन-यू टाउन, काचिन राज्य में मोहिनी टाउन और शान राज्य में ताऊंग्गी शहर में कल नौ लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई, जबकि 23 लोग इससे पिछले दिन मारे गए थे।

सेना ने 24 लोगों को दोषी करार दिया है और इसके अलावा, 109 लोगों के खिलाफ अरेस्ट वारंट जारी है. एमएएपीपी ने ने जानकारी दी है कि प्रदर्शनकारियों ने नयी रणनीति अपनाई और उन्होंने शांतिपूर्ण हड़ताल के तहत लोगों से अपने घरों में ही रहने और कारोबारी प्रतिष्ठानों को दिन में बंद रखने की अपील की है जिससे की जन हानि से बचा जा सके। बता दें कि मौन हड़ताल किया गया और कई कस्बों में रात में विरोध प्रदर्शन किया गया था।