पति और ससुराल वालों की ओर से घर में न घुसने देने पर एक मुस्लिम महिला ने अपने परिवार वालों को हिंदू धर्म अपना लेने की धमकी दी है। बुलंदशहर की रिहाना(30) का निकाह 2012 में जमालपुर के मोहम्मद शरीफ से हुआ था। कुछ माह पहले पति से लड़ाई के बाद वह अपनी चार साल की बच्ची को लेकर माता-पिता के घर चली गई। मंगलवार को जब वह दोबारा ससुराल आई तो उसे घर में नहीं घुसने दिया। तब से वह घर के दरवाजे पर बैठी है। 

बुधवार को महिला की मदद के लिए हिंदू महासभा के स्थानीय नेता जमालपुर पहुंचे। इस कारण इलाके में तनाव बढ़ गया। हालांकि महिला ने साफ किया है कि यह तीन तलाक का मामला नहीं है। उधर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के एक प्रमुख सदस्य की ओर से डेढ़ साल में तीन तलाक को खत्म करने को लेकर दिए गए बयान का भारतीय मुस्लिम महिला आंदोलन(बीएमएमए) ने स्वागत किया है। साथ ही यह सवाल भी किया कि तीन तलाक खत्म करने के लिए 18 महीने क्यों चाहिए। इसके खिलाफ उलेमा अभी ऐलान क्यों नहीं करते।