उत्तर प्रदेश के बरेली से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक मुस्लिम महिला को उसके पति ने सिर्फ इस वजह से घर से बाहर निकाल दिया है क्योंकि उसने यूपी विधान सभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को वोट दे दिया था। इतना ही नहीं पीड़िता का पति उसे अब तीन तलाक देने की धमकी भी दे रहा है।

यह भी पढ़ें : सरकार को अरूणाचल में बड़ी कामयाबी, एक ही झटके में सरेंडर करवाई 2000 से अधिक एयर गन

इस मुस्लिम महिला को घर से निकालने से पहले पति और उसके घरवालों ने उसकी पिटाई भी की। पीड़िता मिन्नतें करती रही कि उसे मत मारो और घर से नहीं निकालो लेकिन उन्होंने एक बात नहीं सुनी। पति और ससुराल की तरफ से किए गए अत्याचार के बाद अब महिला ने मदद की अपील की है।

मुस्लिम महिला नजमा उजमा की शादी पिछले साल उसके पड़ोस में रहने वाले तय्यब अंसारी से हुई थी। उसने तय्यब अंसारी से लव मैरिज की थी। वो बरेली के बारादरी थाना इलाके के एजाज नगर गोटिया की रहने वाली हैं। उनके पति और ससुराल वाले समाजवादी पार्टी का सपोर्ट करते हैं। लेकिन नजमा ने चुनाव में बीजेपी को वोट दे दिया। नजमा यूपी की योगी सरकार के कामकाज से प्रभावित हैं।

यह भी पढ़ें : युवक की कॉस्टेबल ने की इतनी खतरनाक पिटाई, हिल गया अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन

पीड़ित मुस्लिम महिला नजमा ने कहा कि बीजेपी ने धर्म-जाति से ऊपर उठकर समाज के लिए काम किया है। बीजेपी सरकार ने फ्री में राशन दिया, महिलाओं को सुरक्षा दी। लेकिन नजमा का बीजेपी को वोट देना उसके पति और ससुराल वालों को पसंद नहीं आया। अब नजमा मदद के लिए मेरा हक फाउंडेशन की फरहत नकवी के पास गई हैं।

नजमा का कहना है कि उन्होंने देश के हित के लिए वोट दिया था लेकिन अब उसका पति और ससुराल वाले ही उसके दुश्मन बन गए हैं। नजमा के ससुराल वालों का कहना है कि वो उसके पति से उसका तलाक करा देंगे और उसे अपने घर में रहने भी नहीं देंगे।